जागरण संवाददाता, पठानकोट। शहर की एक तिहाई आबादी के लिए राहत भरा समाचार है। ओवरलोडिंग की समस्या से जूझ रहे 20 हजार से अधिक उपभोक्ताओं की परेशानी का पावरकाम ने हल निकाल दिया है। इसके तहत ओवरलोड हो चुके चार फीडरों का लोड कम करने के लिए नए फीडरों का निर्माण करवाया जा रहा है। एक फीडर का ट्रायल पिछले दिनों किया गया था, जो सफल रहा। इसके बाद शहर के करीब आधा दर्जन एरिया का लोड उस पर शिफ्ट कर दिया गया।

इसके अलावा तीन अन्य फीड़रों का काम रेलवे से मंजूरी न मिलने के कारण रुका पड़ा था। इसकी मंजूरी मिल गई है। संभवत: अगले सप्ताह से उक्त तीनों फीडरों का काम शुरू हो जाएगा। उक्त प्रोजेक्ट दो महीनों के भीतर पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। नए फीडरों का निर्माण होने के बाद उपभोक्ताओं को अगले सीजन में बिजली के अघोषित कटों से निजात मिल जाएगी।

सिटी, प्रीतनगर, सैली व सुंदरनगर फीडर हैं ओवरलोड

शहर के सिटी, प्रीतनगर, सैली रोड व सुंदर नगर फीडर ओवरलोड हैं। उक्त फीडरों के अधीन 20 हजार से अधिक उपभोक्ता पिछले कई वर्षों से ओवरलोडिंग के कारण परेशान हैं। हालांकि, पावरकाम इन फीडरों के अधीन आते एरिया में उच्च क्षमता वाले ट्रांसफार्मर लगाकर कमी को दूर तो कर रहा है। परंतु स्थायी समाधान नहीं हो रहा। इसी बात को ध्यान में रखते हुए पावरकाम ने इन फीडरों का लोड कम करने के लिए नए फीडर स्थापित करने की योजना तैयार की थी। इसे मंजूरी मिलने के बाद अब काम शुरू करवाया जाएगा।

132 केवी सब स्टेशन में लगेगा नया 20 एमवीए का ट्रांसफार्मर

पावरकाम अधिकारियों का कहना है कि चार नए फीडर बनाने के अलावा 132 केवी सब स्टेशन की क्षमता को बढ़ाने के लिए 20 एमवीए का नया ट्रांसफार्मर लगाया जाएगा। सब स्टेशन में नया ट्रांसफार्मर लगने के बाद इसकी क्षमता भी अगले पांच सालों तक बढ़ जाएगी। सब स्टेशन की परिधि बढ़ेगी। वर्तमान में सब अर्बन कार्यालय की बिल्डिंग को वहां से हटाकर अन्य स्थान पर शिफ्ट कर वहां पर नया 20 एमवीए वाला ट्रांसफार्मर लगाया जाएगा। उक्त प्रोजेक्ट को भी बहुत जल्द मंजूरी मिलने की संभावना है। संभवता अगले पैडी सीजन तक इसका काम भी शुरू हो जाएगा।

बीस हजार से अधिक उपभोक्ताओं को मिलेगी राहत-एक्सईएन

पावरकाम सब अर्बन डिवीजन के एक्सईएन गगनदीप भास्कर ने बताया कि सैली रोड़ व प्रीतनगर के नए फीडर निर्माण में रेलवे से मंजूरी न मिलने के कारण देरी हो रही थी। मेन लाइनें रेलवे लाइन के नीचे से निकलनी थीं, पर मंजूरी नहीं मिल रही थी। हायर अथारिटी ने रेलवे से लगातार पत्राचार कायम रखा। इसमें अब कामयाबी मिली है।

इसके अलावा सुंदरनगर फीडर का काम भी बहुत जल्द शुरू होने जा रहा है। बताया कि सिटी फीडर का आधा लोड सिटी फीडर नंबर-2 पर शिफ्ट कर लोगों को राहत पहुंचाई गई है। चार नए फीडर स्थापित करने के बाद शहर के 20 हजार से अधिक उपभोक्ताओं को अगले पांच साल तक ओवरलोडिंग के कारण परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ेगा।

Edited By: Vinod kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट