सूरज प्रकाश, पठानकोट : वार्ड नंबर 33 में अगर विकास की बातें करें तो बजरी कंपनी इलाके में गलियां की मरम्मत, सीवरेज की समस्या का हल हुआ है। जट्टां मोहल्ले में वाटर सप्लाई की नई पाइप लाइनें डलवाई गई हैं। कुछ गलियों में स्ट्रीट लाइटें भी लगाई गई हैं। वर्ष 2015 में इस वार्ड का अधिकतर हिस्सा वार्ड 35 में था। नई वार्डबंदी के बाद यह अब महिला आरक्षित है। इससे पहले यह जनरल वार्ड था। लोगों का आरोप है कि

............ वार्ड में मतदाताओं की संख्या

कुल मतदाता -

1300- पुरुष मतदाता

1200- महिला मतदाता

795-नवयुवक

......

2015 साल की स्थिति

कुल वोट- 3295

मत प्रतिशत- 80 प्रतिशत

......

पूरे हुए वादे

गलियों का निमार्ण करवाया

वाटर सप्लाई की समस्या हल करवाई

सीवरेज की समस्या दूर की

ट्यूबवेल लगवाया

स्ट्रीट लाइटें लगवाई

राशन कार्ड बनवाए

........

जो वादे पूरे नहीं हुए

गलियों, सड़कों का निमार्ण नहीं हुआ।

सीवरेज समस्या नहीं हल हुई।

वाटर सप्लाई का काम नहीं हुआ।

........

कांग्रेस

नहीं हुए समय पर टेंडर पारित

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मास्टर जनकराज ने कहा कि बीजेपी के मेयर बनने पर टेंडर समय पर पास नहीं हुए। टेंडर पारित करवाने में कई तरह की अड़चने आई। इस कारण विकास कार्यों में देरी हुई है। हाल ही में उन्होंने सभी टेंडरों को पास करवाया। विधायक अमित विज के प्रयास से पूरे वार्ड में गलियों, सीवरेज व वाटर सप्लाई का निमार्ण कार्य करवाया है। खुद के खर्च से पूरे वार्ड में पांच लाख रुपये की लागत से स्ट्रीट लाइटें भी लगवाई है।

..........

भाजपा: पूर्व पार्षद

बीजेपी सरकार के दौरान हुए सभी विकास कार्य

बीजेपी के नेता इंद्रजीत गुप्ता ने कहा कि उनकी सरकार दौरान ही वार्ड में सभी विकास कार्य करवाए गए है। वार्ड में सभी गलियां, सीवरेज व वाटर सप्लाई का काम बीजेपी सरकार के नेताओं द्वारा करवाया गया है। दो तीन गलियों का निमार्ण रह गया था, इस तरफ किसी भी सरकार का ध्यान नहीं गया। वार्ड में विकास कार्यो में देरी होने पर कोई भी पार्टी का नेता जिम्मेदार नहीं है और सभी को एक दूसरे का सहयोग रहा है।

...........

सरकारें बदलती रही, हाथ बढ़ाने कोई नहीं आया

वार्ड निवासी लभुराम ने कहा कि कई सरकारें बदलती रही, लेकिन किसी भी वार्ड में रहने वाले लोगों की सुध तक नहीं ली। वोटें मांगने सभी आते थे, लेकिन जब विकास की बात आती तो सभी घरों में कुंडे लगाकर रखते हैं। किसी भी समस्या तक नहीं सुनते। जिस वजह से आए दिन लोगों को समस्या रहती थी।

......

वार्ड में करवाए गए हैं विकास कार्य

वार्ड निवासी रवि भट्टी ने कहा कि कृष्णा नगर में सीवरेज की आए दिन समस्या रहती थी और गंदे पानी की निकासी न होने से सीवरेज का पानी लोगों के घरों तक पहुंच जाता था। जिस वजह से लोग परेशान रहते थे। लेकिन, पिछले कुछ समय से वार्ड में विकास कार्य करवाए गए है। जिस कारण लोग नरक भरी जिदगी जीने से बचे है।

........

कौन सा एरिया कहां हुआ शिफ्ट

नई वार्डबंदी के बाद पहले जो वार्ड नंबर 35 था उसे बदल कर वार्ड नंबर 33 कर दिया गया है। वार्ड नंबर. 35 में पहले जट्टां मोहल्ला, सैनी मोहल्ला, बजरी कंपनी, कृष्णा नगर, प्रोफेसर कालोनी, जोधामल बाग, ओबराए अस्पताल। नया वार्ड नंबर 33 बनने पर जट्टां मोहल्ला, सैनी मोहल्ला, बजरी कंपनी, कृष्णा नगर, प्रोफेसर कालोनी, जोधामल बाग, ओबराए अस्पताल वहीं पुराने मोहल्ले आते है। इसमें जट्टा सैनी मोहल्ले का कुछ हिस्सा वार्ड नंबर 34 में शिफ्ट किया गया है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021