जासं, नवांशहर : नवांशहर पुलिस ने नशे के टीकों की एक बड़ी खेप पकड़ी है। नशे की खेप ला रहे दो नशा तस्करों को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। यह तस्कर पिछले कई महीनों से नशे के धंधे में शामिल थे। ये नवांशहर और होशियारपुर में नशीले टीकों की सप्लाई करते थे। एसपी (जांच) वजीर सिंह ने बताया कि इन दोनों नशा तस्करों के खिलाफ पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि एक कार से नशीले टीके की बड़ी खेप आ रही है। इसके बाद एसएचओ नवांशहर सिटी कुलजीत सिंह के नेतृत्व में चंडीगढ़ चौक पर नाकाबंदी की गई थी। इस दौरान सूचना के आधार पर पुलिस ने कार को रुकवा कर उसकी जांच की तो उसमें से 1600 नशीले टीके बरामद हुए। पकड़े गए आरोपितों की पहचान होशियारपुर के गढ़शंकर इलाके के बढ़ेसरों निवासी हरविदर सिंह उर्फ सम्मी और होशियारपुर के ही गांव पोशी निवासी कनवर सिंह उर्फ शिव के रूप में हुई है। दोनों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है। आरोपितों से उनके बाकी साथियों के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है। अभी तक की पूछताछ में पता चला है कि हरविदर पर होशियार पुर के विभिन्न थानों में चोरी व मारपीट के चार मामले दर्ज है। दोनों को अदालत में पेश किया गया। अदालत ने उन्हें चार दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया है।

कार पर लगा रखी थी जाली नंबर प्लेट

पुलिस द्वारा पकड़े गए नशा तस्करों ने पुलिस को गुमराह करने के लिए जाली नंबर प्लेट लगा रखी थी। पुलिस ने जब उन्हें पकड़ा तो उनकी इंडिगो कार पर (पीबी01ए5242) नंबर लगा था। बताया जा रहा है कि यह नंबर एक स्वीफ्ट डिजायर टूर का है। पुलिस अभी इस मामले की जांच कर रही है।

सहारनपुर के बाद अब दिल्ली से लाए ला रहे नशे के टीके

अब तक सूबे के नशा तस्कर उत्तर प्रदेश के सहारनपुर से नशे के टीकों की खेप लेकर आते थे। अब दिल्ली से नशीले टीके लाए जाने लगे हैं। एसपी वजीर सिंह ने बताया कि पकड़े गए नशा तस्कर हरविदर सिंह ने बताया कि वह दिल्ली से नशे के टीकों को लेकर आ रहा है। पुलिस नशीले टीके बेचने वालों को दबोचने के प्रयास में है। एसपी ने कहा कि दिल्ली से लाए गए नशीले टीके पहली बार पकड़ में आए हैं।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran