कुलविदर सिंह, नवांशहर : मानसून ने देश के ज्यादातर हिस्सों को कवर कर लिया है। लोगों को गर्मी से राहत भी मिल रही है, लेकिन किचन के बजट पर इसका असर बिल्कुल उल्टा दिखाई दे रहा है। बाजार में बारिश की वजह से सब्जियों के दामों में अचानक उछाल आ गया है। इस वक्त मंडियों में हरी सब्जियां जैसे कि हरा धनिया, हरा प्याज, पालक, फूल गोभी, घीया, टिडा और मटर की बढ़ी हुई कीमतें लोगों की जेब पर कैंची चला रही हैं। सर्दियों में 20-30 रुपये के भाव मिलने वाला हरा प्याज मंडियों में 200 रुपये किलो के भाव बिक रहा है। हरा प्याज मंडी में हिमाचल और दिल्ली से लाया जा रहा है।

-सब्जियों की बढ़ती कीमत से महिलाएं परेशान हैं। अब प्याज 30 रुपये किलो बिक रहा है। 10 रुपये किलो में बिकने वाला टमाटर 40 रुपये किलो तक पहुंच गया है। चार-पांच सदस्यों वाले परिवार में 300 रुपये की सब्जी खरीदने से सप्ताह भर चलना मुश्किल हो रहा है। सब्जी विक्रेता वीरू, नंदू, रामतीर्थ, सोनू, मुकेश कुमार, दीपक बाबी आदि ने बताया कि पिछले दिनों से लगातार सब्जियों के दाम में उछाल हो रहा है। सब्जियों के दाम 10-20 रुपये प्रति किलो तक बढ़ गए हैं। जो लोग ज्यादा सब्जी लेते थे, अब उन्होंने कटौती शुरू कर दी।

पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने से हुआ इजाफा

सब्जी विक्रेता करण, गगन मक्कड़, नितिन कुमार ने कहा कि पेट्रोल व डीजल की कीमतें बढ़ने के कारण भाड़ा महंगा हुआ। इसलिए सब्जियों के दामों में भी इजाफा हो गया है। इसके अलावा कुछ इलाकों में पहले बारिश और फिर खिली धूप से भी सब्जियां खराब हुई हैं। इन वजहों से अब लोगों की खाने की थाली महंगी हो गई है। खीरा, टमाटर, फूल गोभी, बैगन, पालक समेत हरी सब्जियां आसपास के क्षेत्रों से आती हैं। जबकि प्याज, अदरक बाहर से आते हैं। सबसे ज्यादा दाम शिमला मिर्च के बढ़े हैं। इसके अलावा बैंगन, प्याज, भिडी, टमाटर, खीरा, तुरई, गोभी से लेकर अदरक तक महंगी हो गई है। नवांशहर में लोकल टमाटर खत्म हो गया है। टमाटर मंगवाया जा रहा है। भाड़ा में ज्यादा पैसे खर्च होने की वजह से टमाटर के दाम बढ़ गए हैं। बॉक्स के लिए

दीपक कुमार बाबी, कश्मीरी लाल का कहना था कि बारिश की वजह से सब्जियां खराब हो गई हैं। इसके चलते सब्जियों के दामों में तेजी देखने को मिली है। समय से पहले बारिश ने सब्जी की फसलों को काफी नुकसान पहुंचाया है। - बाक्स के लिए..

सब्जी दाम अब और 10 दिन पहले

बैगन 40 रुपये किलो 30 रुपये प्रति किलो

प्याज 30 25

भिडी 40 30

टमाटर 40 20

खीरा 40 30

तुरई 25 20

गोभी 80 50

शिमला मिर्च 60 35

बंद गोभी 25 15

अदरक. 130. 80

हिमाचल में बारिश के चलते रास्ते बंद हैं। ऐसे में मंडियों में सब्जी कम संख्या पहुंच रही है। जो आ रही है, वह भी बारिश से गीली होने की वजह से खराब आ रही । फूल गोभी भी बढ़ कर 60 से 65 रुपये के हिसाब से बिक रही है।

Edited By: Jagran