चमन लाल, बंगा : बंगा में इन दिनों आवारा घूम रहे खूंखार कुत्ते लोगों के लिए परेशानी का सबब बने हुए हैं। आए दिन इन कुत्तों द्वारा किसी न किसी किसी को काटने कि खबरें समाचार पत्रों में प्रकाशित हो रही हैं, लेकिन समस्या का कोई हल नहीं किया जा रहा। यह आवारा खूंखार कुत्ते स्कूल जाते और शाम के समय ट्यूशन जाते छात्रों और राहगीरों को अपना निशाना बना रहे है। बीते दिनों बंगा के तुंगल गेट की पलक प्रीत कौर को आवारा कुत्तों ने झुंड ने हमला कर दिया था। पास खड़े लोगों ने शोर मचाकर मुश्किल से उसे बचाया। इसी तरह झिक्का रोड पर एक किसान की गाय को नोचकर मार डाला था। नगर कौंसिल कुत्तों के आतंक से बचाने के लिए कुछ नहीं कर रही है। लोगो की मांग है एन आवारा कुत्तों से निजात दिलाई जाए।

पालकर गली में छोड़े न जाएं कुत्ते : जतिंदर

बंगा के मोहल्ला तुंगल गेट निवासी जतिदर सिंह मान ने कहा कि लोग पालतु कुत्तों को अपने घरों बांधकर रखें। उनकी पूरी संभाल उन्हें करनी चाहिए। जो लोग कुत्ते पालकर गली में छोड़ देते है, उनके खिलाफ सरकार को करवाई करनी चाहिए, ताकि लोगों को राहत मिले सके।

कुंभकर्णी नींद सोई है नगर कौंसिल : अमृत सिंह

अमृत सिंह ने कहा कि पहले नगर कौंसिल आवारा कुतों को मारने के लिए •ाहर डाल देती थी, लेकिन अब कुत्तों की संख्या बहुत बढ़ गई है। खूंखारआवारा कुत्ते लोगों को अपना शिकार बना रहे है और नगर कौंसिल को इस पर गंभीर नहीें है। वह कुंभकर्णी नींद सोई हुई है। मामले को गंभीरता से लेते हुए कौंसिल को इस समस्या का हल निकालना चाहिए।

मोहल्ले में बैठे रहते हैं 12 से आधिक कुत्ते

तुंगल गेट निवासी दीपक कुमार, गुरदेव सिंह, बलबीर कौर ने बताया कि मोहल्ले में 12 से आधिक आवारा खूंखार कुत्ते हमेशा बैठे रहते हैं। वे शाम के समय ट्यूशन जाने वाले छात्रों और राहगीरों के पीछे दौड़ते है और उन्हें कई बार काट भी देते है। इससे लोगों में दहशत बनी रहती है। नगर कौंसिल के अधिकारी इन आवारा घूम रहे कुत्तों का प्रबंधक करे।

नसबंदी करने के लिए दिया है विज्ञापन : ईओ

नगर कौसल बंगा के कार्यकारी (ईओ) राजीव ओबराय का कहना है कि वाइल्ड लाइफ कानून के अनुसार जानवर को जहर नहीं डाल सकते। कुत्तों की बढ़ रही संख्या चिताजनक है। नगर कौंसिल ने आवारा कुत्तों की नसबंदी करने के लिए विज्ञापन दिया है। बहुत जल्द कुत्तों की नसबंदी ़कर इसकी संख्या को कम किया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!