संवाद सहयोगी, बलाचौर : आशा वर्कर और फैसिलीटेटर यूनियन पंजाब में प्रदेश सरकार के प्रति गुस्सा है। जत्थेबंदी के आह्वान पर जिला प्रधान शकुंतला, ब्लॉक प्रधान अनीता थोपिया, सुनीता जोगेवाल की ने सब सेंटर थोपिया में वीरवार को मांगो को लेकर संघर्ष की शुरुआत की।

प्रधान शकुंतला ने कहा कि प्रदेश भर में 15 मई को डिफ्टी कमिश्नरों और सिविल सर्जनों के माध्यम से प्रदेश के सेहत मंत्री को मांगपत्र भेजे गए थे। 18 मई को सीनियर मेडिकल अफसरों के माध्यम से नेशनल हेल्थ मिशन को भी मांगपत्र भेजे गए, परंतु उनकी मांगों पर कोई ध्यान नहीं दिया गया। उन्होंने कहा कि उनकी सुरक्षा यकीनी बनाई जाए।

मांगपत्र में कहा गया कि उन्हें आंगनबाड़ी सुपरवाइजरों का स्केल दिया जाए, मान भत्ते में हर साल 20 प्रतिशत बढ़ोतरी की जाए, टूर भत्ता 250 रुपये प्रति टूर किया जाए, पांच लाख रुपये का बीमा, हर साल वर्दी, प्रत्येक तरह की छुट्टियां आदि मांगों को माना जाए। इस दौरान सुनीता, जसवीर कौर, मनजीत, रानी, राज रानी, बबली, रजनी आदि मौजूद थीं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!