संवाद सहयोगी, काठगढ़ : हेल्थ कैप्स फैक्टरी प्रबंधकों और मजदूरों के बीच आपसी मांगों को लेकर टकराव दिन प्रतिदिन गर्म होता जा रहा है। शुक्रवार को धरना 17वें दिन में प्रवेश कर गया। सीटू के पंजाब प्रधान कामरेड महासिंह रौड़ी ने धरने पर बैठे मजदूरों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि फैक्टरी के प्रबंधक प्रशासन को भी टिच समझ रहे हैं, जो बातचीत एसडीएम बलाचौर व डीएसपी बलाचौर के साथ बैठकर की गई है, उसे नजरअंदाज कर दिया गया। पंजाब प्रधान ने कहा कि हेल्थ कैप्स फैक्टरी के प्रबंधक के खिलाफ जिला प्रशासन सख्त कार्रवाई करे और जो कर्मचारी बिना किसी वजह से बाहर रखकर उनका गेट बंद किया हुआ है, उनको काम पर वापस लिया जाए। पंजाब किसान यूनियन के नेता कामरेड बलवीर सिंह जाडला ने बताया कि मांगों न मानी गई तो सभी फैक्टरी के गेट के आगे रैली करेंगे। कंडी संघर्ष कमेटी के सचिव राणा कर्ण सिंह ने कहा कि हम प्रबंधकों को एक बार फिर समय दे रहे हैं, 12 नवंबर तक सभी समस्याओं का समाधान करके माहौल को शांत कर दिया जाए वरना गेट के आगे विशाल रोष मार्च निकाला जाएगा। इस अवसर पर कंडी संघर्ष कमेटी के प्रधान हुसन लाल मझोट, कामरेड जसवंत सिंह सैणी के अलावा यूनियन के प्रधान जसविदर सिंह, सचिव जगदीश राम आदि ने भी संबोधित किया और कानून के दायरे में रहकर सभी एक्शन व प्रदर्शन करने को कहा। इस अवसर पर प्रबंधकों के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया और जमकर नारेबाजी भी की गई।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!