जासं, नवांशहर : अकाली दल के नवांशहर हलके के इंचार्ज जरनैल सिंह वाहिद ने आरोप लगाया है कि घक्केवाल शैलर से जो शराब बरामद हुई है, उसका संबंध कांग्रेस से हैं। उन्होंने कहा कि इसका चुनावों में इस्तेमाल होना था। मामला पकड़ में आने के बाद इस मामले में अकाली दल के नेताओं को फंसाने की साजिश रची गई। वाहिद एसजीपीसी के सदस्य गुरबख्श सिंह खालसा व जगजीत सिंह कोहली के साथ प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित कर रहे थे। उन्होने कहा कि अदालत ने अकाली नेताओं को जमानत दे दी है। असल में यह चुनावों में अकाली नेताओं को फंसा कर बदनाम करने की साजिश थी। इसमें यहां के एमएलए का हाथ हैं। वाहिद ने कहा कि इस मामले की जांच लुधियाना के एआईजी क्राइम कर रहे हैं। वह पुलिस अधिकारियों से मांग करेंगे कि इस मामले की जांच जल्द पूरी हो। खालसा ने कहा कि यह शराब विधायक अंगद सिंह सैनी की है। यदि इसकी निष्पक्ष जांच हो तो मामला साफ हो जाएगा। उन्होंने कहा कि विधायक के फोन की डिटेल निकलवाई जाए तो साफ हो जाएगा कि मामले को लेकर वे किस-किस के संपर्क में थे। वे सुबह दस बजे तक शराब को बचाने में लगे हुए थे। बाद में उनके एक सलाहकार की सलाह पर यह मामला हेमंत रंदेव जैसे साफ छवि नेता की छवि खराब करने के लिए किया गया। जबकि शराब को एस्कार्ट करके कांग्रेसी शैलर तक ले गए थे। उन्होंने आरोप लगाया कि जो इनोवा कार शराब के ट्रक को एस्कार्ट करके ले जा रही थी उस पर गलत नंबर प्लेट लगी थी। इसके अलावा उनके पास कई ऐसे सबूत जिससे साफ हो जाएगा कि इसमें किस प्रकार अकाली नेताओं को फंसाया गया है। अब तक विधायक रेत के अवैध खनन के मामले में शामिल थे, लेकिन अब जिस तरह से शराब हरियाणा यहां लाई गई है। उससे साफ है कि शराब के अवैध कारोबार में वे शामिल है। रेत के अवैध खनन मामले में तो मुख्यमंत्री के द्वारा कार्रवाई के आदेशों के बाद भी आज तक कुछ नहीं हुआ है।

सांसद प्रेम सिंह चंदूमाजरा राजीनितक जगजीत सिंह कोहली ने जांच अधिकारी से कहा कि इस मामले की जांच 19 मई से पहले-पहले जांच पूरी करके। इससे साफ हो जाएगा कि यह शराब किसकी है। उन्होंने कहा कि हो सकता है जिले में और भी स्थानों पर अवैध शराब लाकर डंप की गई हो और चुनावों में इसका इस्तेमाल किया जाए। इस दौरान शंकर दुग्गल, मनिदर वालिया, हरमेश पुरी, परम सिंह खालसा, कपिल कृपाल सहित अन्य अकाली नेता मौजूद थे।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran