जागरण संवाददाता, नवांशहर

शहर को 100 फीसद सीवरेज सिस्टम से जोड़ने के उद्देश्य से सीवरेज बोर्ड द्वारा करीब 17 किलोमीटर लंबी लाइन बिछाई जानी है। इसके लिए करीब सवा सात करोड़ रुपये का प्रोजेक्ट तैयार किया गया है। हालांकि इस प्रोजेक्ट के तहत करीब 11 किलोमीटर की सावरेज पाइप लाइन बिछा दी गई है, मगर अब बरसात की वजह से काम की गति धीमी हो गई है। इसके चलते अब बरसात के बाद ही 6 किलोमीटर की सीवरेज लाइन बिछाई जानी है।

जानकारी अनुसार पूर्व अकाली सरकार के समय शहर में उन क्षेत्रों में जहां बीते समय के दौरान शहर की बढ़ी हदबंदी के बाद आबादी क्षेत्र में सीवरेज नहीं मिल पाया था, उसे सीवरेज से जोड़ने के लिए प्रोजेक्ट पास किया था। हालांकि प्रोजेक्ट अकाली सरकार के समय शुरू नहीं हो पाया। इस वजह से कांग्रेस सरकार के दौरान इस प्रोजेक्ट को शुरू किया गया। इसके तहत राहों रोड, कुलाम रोड, मूसापुर रोड, सलोह रोड के शहरी आबादी में नए जुड़े क्षेत्रों को शामिल किया गया था। प्रोजेक्ट करीब 7.27 करोड़ रुपये का है, जिसकी पेमेंट सरकार की तरफ से नई नीति के तहत की जानी है।

बताया जा रहा है कि कुलाम रोड पर सीवरेज डालने का काम 100 फीसद तक पूरा कर लिया गया है। मूसापुर रोड पर 80 फीसद, राहों रोड पर 20 फीसद और सलोह रोड पर अभी काम शुरू नहीं हो पाया है। किए गए काम के अनुसार करीब साढे़ 11 किलोमीटर के क्षेत्र में सीवरेज बिछाया जा चुका है व अब अन्य क्षेत्र में सीवरेज बिछाया जाना है। हालांकि बरसात का मौसम होने की वजह से काम धीमी गति से चल रहा है। इसके चलते अब बरसातों के बाद ही यह काम में तेजी आने की संभावना है।

बाक्स

कुलाम रोड के हालात बद से बदतर

सीवरेज बोर्ड की तरफ से कुलाम रोड व आस पास के क्षेत्र में भले ही 100 फीसद सीवरेज डाल दिया गया है। मगर हालात यह है कि वहां पर सीवरेज के लिए की गई खुदाई के बाद सड़क पर कीचड़ ही कीचड़ फैल गया है। वहां से दो पहिया वाहन तो क्या पैदल चलना भी मुश्किल हो गया है। यही सड़क ग्रामीण क्षेत्रों के लिए ¨लक सड़क का भी काम करती है। इस वजह से इस सड़क पर छोटे वाहनों के अलावा बड़े वाहन जिसमें बसों के अलावा भार वाहक वाहन भी गुजरते हैं। इस वजह से सीवरेज डालने के बाद वहां डाली गई मिट्टी भी दलदली बन गई है। इसके चलते इस क्षेत्र में रहने वाले लोग खासे परेशान हैं।

बाक्स---

शहर को सौ फीसद सीवरेज से जोड़ा जाएगा: रणजीत सिंह

सीवरेज बोर्ड के एसडीओ रणजीत ¨सह का कहना है कि शहर को 100 फीसद क्षेत्र को सीवरेज से जोड़ने के लिए काम चल रहा है। हालांकि बरसात की वजह से काम कुछ धीमा हुआ है, मगर पूरे प्रोजैक्ट को 31 दिसंबर तक पूरा करने का लक्षय है, जिसे हर हाल में पूरा किया जाएगा। जहां तक कुलाम रोड का सवाल है तो यह मामला विभाग के उच्छ अधिकारियों के ध्यान में लाया गया है व उम्मीद है कि इस सड़क के संबंध में मंजूरी मिल जाएगी, जिसके बाद संबंधित विभाग के जरिए सड़क बनवा दी जाएगी।

Posted By: Jagran