संवाद सहयोगी, काठगढ़

सतलुज दरिया रैलमाजरा के पास डूबे दो स्कूली विद्यार्थियों आकाश और रजनीश, (जिनमें से आकाश का शव उसी समय गोताखोरों की सहायता से पुलिस ने बरामद कर लिया था), की तलाश जारी है।

पुलिस चौकी आसरों के इंचार्ज बल¨वदर ¨सह ने बताया कि दरिया के किनारे-किनारे पुलिस और परिवार वाले मिलकर नजर रख रहे हैं। पानी का बहाव काफी ज्यादा होने की वजह से शव पानी के ऊपर आने की संभावना है। उधर, आकाश का शव पोस्टमार्टम करवाकर घरवालों को सौंप दिया गया। शव के गांव रैलमाजरा में पहुंचते ही माहौल गमगीन हो गया। कोई भी आंख ऐसी नहीं रही जिससे आंसू न बहा हो। रैलमाजरा के श्मशान घाट में किशोर आकाश का संस्कार कर दिया गया। उसकी चिता को अग्नि उसके पिता संबोध कुमार ने दी। वह अपने परिवार में इकलौता ही लड़का था। अंतिम यात्रा में शामिल यूथ कांग्रेस नेता पूर्व समिति सदस्य सु¨रदर ¨छदा, पवन कुमार चौधरी, सतपाल पंच, सनफार्मा से स्टाफ व कर्मचारी जो कि पिता संबोध के साथी हैं ने हौसला दिया। विधायक चौधरी दर्शन लाल ने जिला प्रशासन से सहायता करवाने का संदेश सु¨रदर ¨छदा द्वारा भेजा।

Posted By: Jagran