जासं, नवांशहर

डीसी अमित कुमार ने कहा कि जिले को बाल मजदूरी, भिक्षावृति व पालीथिन से मुक्त जिला बनाया जाएगा। इसके लिए निवेकला नवांशहर के तहत मुहिम शुरु की जाएगी। डीसी निवेकला नवांशहर की बैठक को संबोधित कर रहे थे।

डीसी अमित कुमार ने कहा कि इसके लिए बकायदा टीमों का गठन किया जाएगा और चेकिंग की जाएगी। इसके लिए सरकार की ओर से प्रयास किए जा रहे हैं, परंतु निवेकला नवांशहर के द्वारा इसे समाजिक मुहिम के तौर पर लोगों के सहयोग से चलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि भिक्षावृति के खिलाफ कुछ एनजीओ अच्छा काम कर रहे हैं। उनके पुनर्वास व रोजगार के लिए उनके द्वारा बनाए गए थैले पालीथीन का बदले अपनाए जा सकते हैं।

डीसी ने जिले में तनाव के शिकार विद्यार्थियों व किसानों की हेल्प लाइन के नतीजों से संतुष्टि जाहिर की। उन्होंने कहा कि इसे आने वाले दिनों में संवाद के नाम से बड़े स्तर पर प्रचार किया जाए। उन्होंने कहा कि एक्सपेरिमेंट के तौर पर शुरु किए गए इस काम को जिले भर में फैलाया जाए। उन्होंने कौंसलरों द्वारा निभाई जा रही भूमिका की सराहना की।

डीसी अमित ने कहा कि निवेकला नवांशहर का मनोरथ किसी भी विलक्षण सोच को अपनाकर आगे ले जाना है। कोई भी संस्था या व्यक्ति इस अभियान से जुड़ सकता है।

बैठक में एडीसी (डी) द¨वदर ¨सह, एसडीएम आदित्य उप्पल, जगजीत ¨सह, सहायक कमिश्नर सर्वजीत कौर, अनमजोत कौर, सिविल सर्जन डॉ. गु¨रदर कौर चावला, डीडीपीओ बलजीत ¨सह कैंथ, जिला साइंस सुपरिवाइजर डॉ. सु¨रदरपाल अग्निहोत्री, समाज सेवक जेस गिद्धा, ओमप्रका शर्मा व यशपाल ¨सह हफीजाबादी मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!