संवाद सूत्र, नवांशहर : शिक्षा सेक्रेटरी कृष्ण कुमार द्वारा पढ़ो पंजाब पढ़ाओ पंजाब दकी शुरू की गई शिक्षा सुधार मुहिम को जमीनी स्तर पर अमली रूम देने के लिए मेहनती अध्यापकों व लोगों के सहयोग से स्कूलों को स्मार्ट स्कूल बनाया जा रहा है। मेहनती अध्यापकों ने शिक्षा सुधार मुहिम स्कूलों में बुनियादी सुविधा में विस्तार और शिक्षा में गुणात्मक सुधारों के लिए किए जा रहे प्रयासों की शिक्षा सेक्रेटरी कृष्ण कुमार ने न सिर्फ सराहना की जा रही है मगर समूह स्कूल अध्यापकों, पंचायतों, दानी सज्जनों, स्वयं सेवी संगठन और शिक्षा अधिकारियों ने इससे प्रेरणा लेकर संयुक्त तौर पर प्रयास शुरू करके इस मुहिम को लोक लहर में तबदील करने के लिे सहयोग लिया जा रहा है। इस मुहिम में शिक्षा विभाग द्वारा योजनाबद्ध करके स्कूलों को स्मार्ट स्कूल बनाया जा रहा है। जिला शिक्षा अफसर हरचरण सिंह ने बताया कि नवांशहर के मिडिल और हाई स्कूलों के हैड, गांव के सरपंच, एसएमसी सदस्य और स्वयं सेवी संस्थाओं ने सीनियर सेकेंडरी स्मार्ट स्कूल में मुहिम आयोजित की गई। इस अवसर पर जिला स्मार्ट स्कूल सेंटर प्रिसिपल रजनीश कुमार ने कंप्यूटर फैकल्टी, सचिन शर्मा की सहायता से प्रोजेक्टर राही सेल्फ मेड स्मार्ट स्कूल के अलग-अलग पहलुओं से स्कूल हेड और गणमान्य लोगों को जानकारी दी। इस अवसर पर जिला शिक्षा अफसर हरचरण सिंह, जिला शिभा सुधार टीम के सदस्य प्रमोद भारती, सेल्फ मेड स्मार्ट स्कूल प्रोजेक्ट के मोटवेटर राज कुमार भाटिया, परविदर सिंह, प्रिसिपल परमजीत कौर, प्रिसिपल तजिदर शर्मा और मुख्य अध्यापक ने प्रोजेक्ट योजना संबंधी विचार-विमर्श किया। जिला शिक्षा अफसर ने समूह स्कूलों के हेड और पब्लिक नुमाइदों को आपसी सहयोग से शिक्षा सुधार मुहिम को सफल बनाने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने सेल्फ मेड स्मार्ट स्कूल मोटिवेशन में विशेष बैठक करके ब्लॉक नवांशहर के स्कूलों को स्मार्ट स्कूलों में तबदील करने के लिए माइक्रो पॉलिसी तैयार करने के लिए प्रेरित किया।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran