संवाद सहयोगी, राहों : भाषा विभाग पंजाब ने प्रसिद्ध साहित्यकार (पंजाबी व हिदी) सुधा जैन सुदीप द्वारा लिखित हिदी लघु नाटक संग्रह 'जीओ और जीने दो' का विमोचन किया। भाषा विभाग की निदेशक कर्मजीत कौर के कार्यालय में आयोजित समारोह में प्रसिद्ध कवि बाबू राम दीवाना पूर्व सहायक निदेशक, उदय जैन ओसवाल, गगनदीप साहित्य साधना मंच पटियाला के प्रधान व कार्यकारिणी के सदस्य मौजूद रहे।

समारोह में किताब का विमोचन करने के बाद डायरेक्टर कर्मजीत कौर ने कहा कि लेखिका सुधा जैन सुदीप ने लघु नाटक के क्षेत्र में कड़ी मेहनत और समर्पण के साथ इसे संजोया है। इसमें सम्मिलित सभी विषयों की विशेष रूप से सराहना करते हुए कहा कि सभी लघु नाटक आज के समय की मांग और समाज के सामने आने वाली समस्याओं और उनके समाधानों की एक कड़ी है।

कर्मजीत कौर ने सुधा जैन को सम्मानित करते हुए कहा कि वो दोआबा क्षेत्र की शान है, जोकि अपनी कविताओं के द्वारा पहले से ही हर वर्ग को मान दे रही हैं। लेखिका सुधा जैन सुदीप ने कहा कि उनकी किताब 'जीओ और जीने दो' पिछले साल ही तैयार हो चुकी थी। कोविड-19 के चलते इसका विमोचन नहीं किया जा सका। पुस्तक 15 विभिन्न विषयों पर आधारित लघु नाटकों का संग्रह है। इस पुस्तक के प्रकाशन में डा. देवेच्छा (राष्ट्रपति अवार्ड से सम्मानित), डा. सुनील बहल (हिदी विशेषज्ञ), लेखक और अनुवादक बाबू राम दीवाना, अंतरराष्ट्रीय रंगमंच अभिनेता बलकार सिद्धू का विशेष सहयोग रहा। वहीं गुरप्रीत सिंह नामधारी (नेशनल अवार्डी) द्वारा टाइटल चित्र बनाने के लिए बहुत मेहनत की गई। अंत में सुधा जैन ने समारोह में उपस्थित लेखकों, गणमान्यों और विभागीय कर्मचारियों का धन्यवाद किया। म

Edited By: Jagran