संवाद सहयोगी, नवांशहर: सीनियर मेडिकल अफसर डा. गीतांजली सिंह ने उपकेंद्र उसमानपुर में ममता दिवस के मौके पर गर्भवती औरतों को दी जा रही सेहत सेवाओं का जायजा लिया। इस मौके उन्होंने बताया कि सेहत विभाग का मुख्य मकसद जच्चा और बच्चा मौत दर को कम करना है। इसलिए गर्भवती औरतों और नवजात बच्चों का समय पर टीकाकरण करवाया जाए। डा सिंह ने बताया कि ममता दिवस पर गर्भवती औरतों को टेटनेस के टीके और खून बढ़ाने के लिए आयरन फोलिक एसिड की गोलियां, कैलशियम की गोलियां मुफ्त दीं जाती हैं। बच्चों को भी गलघोटू, काली खांसी, तपेदिक, पोलियो, दिमागी बु़खार, खसरा, पीलिया और टेटनेस से बचाव संबंधित टीके लगाए जाते हैं। इस मौके पर रूरल मेडिकल अफसर रणजीत हरीश और एएनएम कुलविदर कौर समेत सेहत विभाग के कर्मचारी व अन्य लोग मौजूद थे।

Edited By: Jagran