जागरण संवाददाता, नवांशहर

सिविल अस्पताल नवांशहर में कोविड-19 के मद्देनजर 192 मरीजों के बुधवार को सैंपल लिए गए। यह जानकारी तरसेम लाल बीईई ने दी है। उन्होंने बताया कि इस दौरान मरीजों को कोविड-19 के लक्षणों के बारे में भी जागरूक किया गया।

उन्हें बताया गया कि किसी भी व्यक्ति को बुखार, खांसी, जुकाम, थकावट महसूस होने लगे या सांस लेने में परेशानी हो तुरंत डाक्टरी सहायता लें। वहीं नशा मुक्त भारत अभियान के अंतर्गत बताया कि यदि उनके आसपास कोई भी व्यक्ति नशा करता है तो उसे समझा कर जिला अस्पताल या नजदीक के ओट सेंटर में इलाज के लिए भेजें। इसका इलाज मुफ्त किया जाता है।

इसके अतिरिक्त उन्होंने सैंपल देने वाल मरीजों से अपील की है कि वे अपना सही मोबाइल नंबर व पता दें और रिपोर्ट आने पर दिया हुआ फोन जरूर अटेंड करें, ताकि उनको बढि़या सेहत सेवाएं दी जाएं और नवांशहर को कोविड मुक्त किया जा सके।

उल्लेखनीय है कि एक ओर स्वास्थ्य विभाग लोगों को कोविड से बचाने में जुटा हुआ है, वहीं अभी भी बहुत से लोग ऐसे हैं जो पुलिस नाकों आदि पर जब उनके कोविड टेस्ट लिए जाते हैं, तो वे अपने बारे में सही जानकारी नहीं देते हैं। यह बात सामने आ चुकी है कि पहले जहां एक कोविड मरीज से लगभग दो लोग संक्रमित होते थे, वहीं अब यह आंकड़ा 13 लोगों तक पहुंच चुका है। वहीं कोरोना के लक्षण दिखने वाले लोग अभी भी गंभीरता से अपने को होम क्वारंटाइन नहीं कर रहे हैं। यही कारण है कि कोरोना के मरीज भी बढ़ रहे हैं।

इस मौके पर डा. अमरजोत सिंह, विकास, मोनिका, मनप्रीत कौर, जगतार सिंह, प्रवीन कुमार, चमन लाल, हरजिदर सिंह, राज कुमार फार्मेसी अफसर व रणधीर ने टेस्ट लेने में सहयोग दिया।

Edited By: Jagran