जागरण संवाददाता,नवांशहर: राज्य पर्यावरण प्रभाव आकलन प्राधिकरण (एसईआइएए) की

पांच सदस्यीय टीम ने अध्यक्ष एचएस गुजराल के नेतृत्व में बुधवार को रेल बरामद, मंढाला और बुर्ज तहल दास खनन स्थलों का निरीक्षण किया गया.

नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के आदेशों के बाद, अध्यक्ष, वैज्ञानिक (ई) वीके हेतवाल, पर्यावरण अभियंता केएल मल्होत्रा, परमिदर सिंह भोगल और परवीन सलूजा सहित सदस्यों के साथ एडीसी (जी) जसबीर सिंह, एसडीएम डॉ बलजिदर सिंह ढिल्लों, एसपी मनविदरबीर सिंह दविदर सिंह ने इन स्थलों पर खनन कार्यों की जांच की। बुर्ज टहल दास और मंढाला की साइटें एक्टिव नही हैं क्योंकि उनकी पर्यावरण मंजूरी समाप्त हो गई थी।

पैनल ने अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया कि खनन या गाद निकालने के कार्यों से पर्यावरण को किसी प्रकार का नुकसान नहीं होना चाहिए।

एडीसी जसबीर सिंह ने कहा कि खनन पर प्रभावी निगरानी के लिए औचक निरीक्षण करने के लिए प्रशासन पहले ही टीमें गठित कर चुका है।

इसके अलावा, एडीसी ने बताया कि खनन अधिकारियों के साथ अतिरिक्त बल भी तैनात किया गया है और कहा कि प्रशासन किसी भी तरह के अवैध खनन पर नजर रखने के लिए प्रतिबद्ध है।

Edited By: Jagran