संवाद सहयोगी, बलाचौर : बलाचौर के भद्दी रोड गुरु नानक चेरिटेबल अस्पताल के डॉ. वरिदर कुमार साइबर क्राइम के शिकार हो गए। डॉ. वरिदर कुमार ने बताया कि 23 सितंबर को उन्होंने क्लब फैक्ट्री ऑनलाइन साइट से एक बैग 1485 रुपये में मंगवाया। परन्तु बैग छोटा होने के कारण उन्होंने कंपनी को वापसी के लिए कहा। इसके लिए उन्होंने कंपनी के हेल्पलाइन नंबर पर बात की तो उनसे उनका एटीएम नंबर मांगा गया। उन्होंने अपना एटीएम नंबर उन्हें दे दिया और कहा कि वह जल्द ही उनके खाते में उनके पैसे डाल देंगे। परन्तु कुछ ही समय के बाद उनके ओबीसी बैंक के खाते से दो बार 18,032 रुपये और पांच हजार रुपये निकाल लिए गए जिस पर उन्होंने तुरंत ओबीसी बैंक में अपना खाता बंद करवा दिया। उन्होंने एसएसपी नवांशहर को अपनी शिकायत दे दी है। हैरानी की बात है कि डॉ. वरिदर कुमार ने कहा कि दोबारा फिर से उन्हें 24 सितंबर को उसी नंबर से फोन आया कि गलती से उनके पैसे आ गए हैं, उन्हें वापिस करना है तो आपके फोन पर ओटीपी कोड आया है, उसे बताएं तो। उन्होंने सतर्कता बरते हुए बैंक से पूछा तो बैंक वालों ने बताया कि ओटीपी नंबर से सिर्फ पैसे निकाले जाते हैं। इसलिए अपना एटीएम पिन और ओटीपी किसी से भी शेयर नहीं करना चाहिए। डॉ. वरिदर कुमार ने बताया कि उनके साथ 23 हजार 32 रुपये की ठगी हो गई।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!