जेएनएन, नवांशहर। गांव राणेवाल के पास मंगलवार को लुधियाना जेल से कोरोना लॉकडाउन में पैरोल पर आए व्यक्ति ने पुरानी रंजिश में भतीजे के साथ मिलकर जीप से टक्कर मारकर एक व्यक्ति की हत्या कर दी। मृतक भी लुधियाना जेल में ही बंद था और इन दिनों जमानत पर था। पुलिस ने आरोपित चाचा-भतीजे के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

गांव राणेवाल के बलिहार सिंह ने पुलिस को बताया कि वह ट्रैक्टर पर गांव मजारा खुर्द जा रहा था। गांव का ही परमजीत सिंह स्कूटी और प्रीतम सिंह मोटरसाइकिल पर घर आ रहा था। इनके पीछे एक काले रंग की जीप थी, जिसे गांव का ही चरणजीत सिंह चला रहा था, जबकि उसका चाचा गुरमुख सिंह साथ बैठा था। गुरमुख कोरोना लॉकडाउन के कारण लुधियाना जेल से पैरोल पर रिहा हुआ है। चरणजीत ने तेज रफ्तार जीप से परमजीत व प्रीतम को टक्कर मार दी, जिससे दोनों खेतों में गिर गए।

बलिहार ने बताया कि जब उसने जीप रोकने की कोशिश की तो दोनों ने धमकाया कि दोनों का काम कर दिया है, उसका भी हश्र वैसा ही होगा। इसके बाद दोनों फरार हो गए। घटना को गांव के दो अन्य लोगों संतोख सिंह और परमजीत सिंह ने भी देखा। तीनों ने परमजीत व प्रीतम को निजी अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने परमजीत को मृत करार दे दिया, जबकि प्रीतम का इलाज चल रहा है।

लुधियाना जेल में भी कई बार हुआ झगड़ा

पिछले साल मार्च में परमजीत व चरणजीत की लड़ाई हुई थी। इसमें परमजीत के खिलाफ धारा 326 के तहत मामला दर्ज हुआ था। परमजीत व गुरमुख का लुधियाना जेल में भी कई बार झगड़ा हो चुका है।

जल्द दबोचे जाएंगे आरोपित

डीएसपी हरलीन सिंह ने कहा कि आपसी दुश्मनी के कारण हत्या हुई है। आरोपितों चरणजीत व गुरमुख को पकड़ने के लिए छापमारी कर रही है। जल्द ही पकड़ लिया जाएगा।

 

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!