जागरण संवाददाता, नवांशहर: केसी ग्रुप आफ इंस्टीट्यूशंस में योगदा सत्संग सोसायटी आफ इंडिया द्वारा धार्मिक, ध्यान-योग, विज्ञान, संतुलित अध्यात्मिक जीवन शैली व अन्य विषयों की करीब दो हजार पुस्तकों का दो दिवसीय मेला संपन्न हो गया। इसमें श्रीश्री परमहंस योगानंद द्वारा रचित पुस्तकों को स्टूडेंट ने पसंद कर खरीदा। कैंपस के सहायक डायरेक्टर डा. अरविद सिगी ने बताया कि हमें पुस्तकों को पढ़ने का शौंक रखना चाहिए। किताबों में छिपे रहस्य को पढ़ कर ही कई इंसान उच्च पद पर भी आसीन हुए है। स्टूडेंट की यह आदत उसे भविष्य में भी सही मार्ग दर्शन करती है। पुस्तकें मनुष्य के शरीर और मन को शिक्षित करने के साथ उनकी आत्मा को भी शिक्षित करती है। आरके मूम ने बताया कि विद्यार्थियों का ज्ञान किताबे पढने से बढ़ता है। अच्छी पुस्तकें बच्चों को सही मार्ग पर लेकर जाने के लिए प्रयासरत है। इस मौके पर शैफ विकास कुमार, डा. कुलजिदर कौर, डा. गुलशन कुमार, अंकुश निझावन, जनार्दन, एचआर मनीशा, जीनत राणा, देवइंद्र शमर, प्रोफेसर रमिदरजीत कौर, प्रोफेसर बलवंत राय, विजय कुमार, एओ कुलविदर कुमार, संदीप सिंह, सुखविदर कुमार, पीआरओ विपन कुमार आदि हाजिर रहे।

Edited By: Jagran