जेएनएन, नवांशहर : रक्षाबंधन की भांति ही भाइयों के प्रति आस्था का पर्व भाईदूज मंगलवार को उत्साह के साथ मनाया गया। बहनों ने भाइयों की बाजू पर रोली बांधी, फिर भाइयों के माथे पर तिलक लगाकर उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। भाइयों ने भी बहनों का स्नेह देखते हुए उन्हें उपहार भेंट किए। भाईदूज के संबंध में पंडित हर्षवर्धन और पंडित भगवान दास ने बताया कि भाई-बहन के अटूट स्नेह का प्रतीक यह पर्व कार्तिक शुक्ल पक्ष की द्वितीय तिथि को मनाया जाता है।

उन्होंने बताया कि इस पर्व को भातृ द्वितीय के नाम से भी जाना जाता है। इस पर्व पर मंगलवार को सुबह बहनों ने अपने भाइयों के सर्व विधि कल्याण के लिए गोवर्धन पूजन किया और अपने भाइयों के माथे पर तिलक लगाकर उनकी लंबी आयु की कामना मांगीं। मान्यता है कि जो भाई इस पर्व पर पूरी श्रद्धा से अपनी बहन का प्यार स्वीकार करते हैं उन्हें यम का भय नहीं रहता।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!