जेएनएन, नवांशहर : बंगा-मुकंदपुर रोड पर स्थित गांव गुणाचौर में चोरों ने एटीएम को तोड़ने की कोशिश की। आधा घंटा तक चोर एटीएम को तोड़ने का प्रयास करते रहे लेकिन वे सफल नहीं हो सके। पुलिस ने मामले की जांच शुरू करदी है। उल्लेखनीय है कि इस साल में पहले भी एटीएम तोड़ने की कोशिश की घटनाएं हो चुकी हैं।

पंजाब एंड सिंध बैंक के कर्मचारियों ने मंगलवार सुबह एटीएम का शटर का ताला टूटा हुआ पाया जिसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। एएसआइ परगन सिंह और एएसआइ कुलविदर सिंह ने घटना स्थल का निरीक्षण किया। बैंक में एटीएम की सीसीटीवी की रिकॉर्डिग को देखा। 12.10 पर शटर तोड़कर घुसे चोर

बैंक मैनेजर अमित कुमार वर्मा ने बताया कि 21 अक्तूबर को दो लाख रुपये की राशि एटीएम मशीन में डाली गई थी। शाम साढ़े पांच बजे एटीएम का शटर बंद करने से पहले एटीएम मशीन की कुल राशि 2.16 लाख रुपये थी। सोमवार मध्यरात्रि करीब 12.10 बजे चोरों ने शटर तोड़कर कर अंदर आए। चोर इतने शातिर थे कि उन्होंने अपनी पहचान छुपाने के लिए चेहरे ढके हुए थे। चोरों ने अंदर दाखिल होते ही सीसीटीवी कैमरों को घुमा दिया। इसके बाद एटीएम को तोड़ने की लगभग आधा घंटा नाकाम कोशिश की। एटीएम कैबिन में लगे सीसीटीवी कैमरे को छेड़ा नहीं गया जिसके चलते उसमें घटना पूरी रिकॉर्ड हो गी है।

मजारी गांव में भी एटीएम तोड़ने की हो चुकी है कोशिश

बलाचौर-गढ़शंकर रोड पर स्थित गांव मजारी में इसी साल तीन जून को चोरों ने पंजाब एंड सिंध बैंक के एटीएम को वैल्डिग कटर से काटने की कोशिश की थी। शोर मचने पर चोर मौके पर अपना सारा सामान छोड़ फरार हो गए थे। चोरों ने मशीन में लगे कैमरे पर रंगीन स्प्रे कर दी जिससे उनके चेहरों की पहचान न हो सके। बंगा में एटीएम को तोड़ कर 13 हजार 500 रुपये हो चुके हैं चोरी

पांच फरवरी 2019 मध्यरात्रि को बंगा मेन रोड पर लुटेरे ने स्टेट बैंक आफ इंडिया एसबीआइ के एटीएम तोड़ कर चोर 13 हजार पांच सौ रुपये की रकम निकालने में सफल हो गए थे जबकि एटीएम में मौजूद 17 लाख रुपये बच गए थे। एटीएम को संचालित कंपनी की ओर से पुलिस को बताया था कि एटीएम के प्रेजेंटर को तोड़ कर 13 हजार 500 रुपए की रकम निकाल ली है। यह रकम सबसे ऊपर प्लास्टिक की ट्रे में होती है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!