जेएनएन,बंगा : भाई संगत सिंह खालसा कॉलेज बंगा में आर्ट ऑफ लिविग ने कैंप लगाकर विद्यार्थियों व अध्यापकों को मेडिटेशन के माध्यम से तनाव मुक्त रहने के लिए प्रेरित किया या। आर्ट ऑफ लिविग के पंजाब हेड विवेक बंसल ने इस अवसर पर कहा कि कामकाजी लोग बहुत जल्दी थकावट महसूस कर रहे हैं और उनका मन एकाग्र नहीं रहता। रोजमर्रा की जिदंगी में भागदौड़ बढ़ गई है जिससे लोग जीवन से असंतुष्ट हो गए हैं। देश में लोग मानसिक बीमारियों का शिकार हो रहे हैं। मानसिक विकृति के कारण वे नशे की गिरफ्त में फंस रहे हैं। विद्यार्थियों में तनाव के बढ़ रहा है। बेरोजगारी के कारण युवा आत्महत्याएं कर रहे है, इसलिए नशे की गिरफ्त से निकलने, मनोबल को मजबूत करने, आत्म विश्वास ो बढ़ाने और बीमारियों से बचने के लिए मेडिटेशन जरूर करनी चाहिए। इस मौके पर मुकेश कुमारी ,सुमन,अमन फगवाड़ा ,विशाल ने भी मेडिटेशन पर विचार रखे। रणजीत सिंह ने मेडिटेशन को समय की जरूरत करार दिया। इस मौके पर प्रोफेसर जगदीश, प्रोफेसर रमनीक कौर ,प्रोफेसर जी बी सिंह, प्रोफेसर अणख सिंह, प्रोफेसर अशोक कुमार और स्टाफ के सदस्य मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!