संस, काठगढ़

पंजाब में तकड़ी और हाथी दोनों का आपसी तालमेल बन गया। जिसका दोनों पार्टियों के वोटरों व कार्यकर्ताओं में काफी उत्साह देखने को मिला। इस हुए गठबंधन से औद्योगिक क्षेत्र के गांव रैलमाजरा में दोनों और से खुशी की लहर देखने को मिली। शिअद के कौमी मीत प्रधान चौधरी गुरप्रीत गुज्जर के निवास पर लड्डू बांटे गए और एक बैठक का भी आयोजन किया गया। जिसमें चौधरी गुरप्रीत गुज्जर कौमी मीत प्रधान पंजाब शिअद ने कहा कि जनता की अंदरूनी मांग पूरी हो गई है। अब पंजाब में आने वाले 2022 के विधान सभा चुनावों में अकाली-बसपा गठबंधन की सरकार बनेगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और आप पार्टी का इस गंठबंधन से मनोबल कमजोर हो गया है। उनकी उम्मीदों पर पानी फिर गया है। उन्होंने कहा कि विधान सभा हलका बलाचौर से अकाली-बसपा की झोली में डाला जाएगा और मजबूत सरकार जनता को मिलेगी।

Edited By: Jagran