जेएनएन, नवांशहर : थाना सदर नवांशहर पुलिस ने एक व्यक्ति को रोमानिया भेजने का झांसा देकर उसे आर्मेनिया भेजकर 3.50 लाख रुपये की ठगी करने का मामला दर्ज किया है। ट्रैवल एजेंट ने व्यक्ति एक से रोमानिया भेजने के लिए 3.50 लाख रुपये में बात पक्की की थी, लेकिन उसे आर्मेनिया भेज दिया गया था। पुलिस को दी शिकायत में गांव सनावा के रणबहादुर सिंह ने बताया कि वह अपने लड़के लवप्रीत सिंह को रोमानिया भेजना चाहता था। इसलिए उसने अपने एक दोस्त से बात की थी। दोस्त ने उसे गांव जलपोता (जालंधर) के ट्रैवल एजेंट अमरजीत सिंह के बारे में बताया। इसलिए उसने अमरजीत से अपने लड़के लवप्रीत सिंह को विदेश भेजने की बात की। इस दौरान अमरजीत सिंह ने कहा कि उसका लड़का भी रोमानिया में ही है, वह लवप्रीत को अपने लड़के के पास रोमानिया भेज देगा। इसके लिए 3.50 लाख रुपये में बात पक्की हुई थी। जिस पर उसने घर जाकर लवप्रीत का पासपोर्ट व 20 हजार रुपये दे दिए। इसके बाद ट्रैवल एजेंट के कहने मुताबिक उसने तीन अक्टूबर 2018 को ट्रैवल एजेंट के बैंक खाते में 2.20 लाख रुपये डाल दिए थे। ट्रैवल एजेंट ने उसे कहा कि उसके बेटे को रोमानिया भेजने का काम तैयार है, इसलिए रोमानिया ले जाने के लिए उसे 1.10 लाख रुपये के अमेरिका के डॉलर चाहिए। यह डॉलर वहां उसके लड़के को देने हैं। शिकायतकर्ता ने पुलिस से मांग की है कि उक्त ट्रैवल एजेंट से उसके पैसे वापस करवाए जांए व उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई कर उसे इंसाफ दिलाया जाए।

आर्मेनिया में काम न मिलने के कारण भारत आया वापस

शिकायतकर्ता ने बताया कि ट्रैवल एजेंट का लड़का रोमानिया में नहीं आर्मेनिया में रहता था। ट्रैवल एजेंट ने उसे धोखे में रखकर अपने लड़के को रोमानिया में बताया था। ट्रैवल एजेंट ने लवप्रीत को अपने लड़के के पास धोखे से आर्मेनिया भेज दिया था। आर्मेनिया में उसके लड़के को तीन महीने तक कोई भी काम नहीं मिला था। ट्रैवल एजेंट के लड़के ने उससे 1.10 लाख रुपये के अमेरिका के डॉलर भी ले लिए थे। इसलिए लवप्रीत आर्मेनिया में तीन महीने रहने के बाद 15 जनवरी 2019 को भारत वापस आ गया था।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!