संवाद सहयोगी, श्री मुक्तसर साहिब : माता जरनैल कौर मेमोरियल इंस्टीट्यूट आफ नर्सिंग तथा पैरा मेडिकल साइंस द्वारा विश्व हेपेटाइटस डे मनाया गया। देशभगत यूनाइटेड के चेयरमैन तथा देश भगत यूनिवर्सिटी के चांसलर डा. जोरा सिंह तथा प्रो. चांसलर डॉ. तेजिदर कौर ने अगुआई की। प्रिसिपल रूपिदर कौर ने बताया कि हेपेटाइटस एक बीमारी है, जो वायरस से होती है। यह बीमारी अंतिम पड़ाव में कैंसर का रूप भी धारण कर लेती है, जिससे मरीज का बचना मुश्किल हो जाता है। बीमारी के शुरुआती लक्षण जैसे भूख न लगना, लगातार बुखार, उल्टियां, घबराहट, चमड़ी तथा आंखों का पीला पड़ना तथा हर समय थकावट महसूस होना है। समय पर इलाज न होने पर इस बीमारी से पीड़ित इंसान सदा के लिए बीमारियों का शिकार होता है। क्योंकि इससे बीमारी से लड़ने की शक्ति कम हो जाती है। प्रिसिपल ने बताया कि विश्व हेपेटाइटस डे हर वर्ष 28 जुलाई को मनाया जाता है। इस मौके पर प्रिसिपल देशभगत ग्लोबल स्कूल संजीव जिदल, सुपरिंटेंडेट मेजर मेहता, नवदीप सिंह लेखकार, दिलबाग सिंह बागी तथा समूह नर्सिंग स्टाफ उपस्थित था।

Edited By: Jagran