संवाद सहयोगी, श्री मुक्तसर साहिब : मनरेगा मजदूर यूनियन ने बठिडा रोड मुक्तसर में केंद्र सरकार द्वारा मनरेगा कानून में संशोधन करके चार कोड बनाने की सिफारिश का विरोध किया। इस दौरान सीटू के जिला इंचार्ज एडवोकेट दविदर सिंह ने कहा कि सरकार कोड बनाकर मनरेगा कानूनों को कमजोर करना चाहती है। इससे मजदूर वर्ग का आर्थिक नुकसान होगा। सरकार की लोक विरोधी नीतियों को लागू नहीं होने दिया जाएगा। सीटू नेता तरसेम लाल ने कहा कि सरकार की यह चाल है। असल में केंद्र की मोदी सरकार देश में जातिवाद के नाम पर लोगों को लड़वाना चाहती है। सरकार के इन मनसूबों को कभी भी कामयाब नहीं होने दिया जाएगा। किसान विरोधी काले कानूनों तथा मजदूरों के साथ मुलाजिम विरोधी किरत कानूनों में संशोधन को देश के लोग कभी भी लागू नहीं होने देंगे। जब तक ये कानून रद नहीं होते किसानों, मजदूरों तथा मुलाजिमों का संघर्ष जारी रहेगा। इस मौके पर सरबजीत सिंह, लखविदर सिंह, सुरजीत सिंह, मुख्तयार सिंह, जगजीत सिंह, कुंदन सिह, आरती, रानी, निदर कौर, जोगिदर कौर, सुरजीत कौर आदि उपस्थित थे।

Edited By: Jagran