संवाद सहयोगी, श्री मुक्तसर साहिब

सीपीएम की तरफ से पंजाब कमेटी की तरफ से 22 जुलाई को डीसी दफ्तर के आगे बिजली के बढ़ाए गए रेटों तथा महंगाई को लेकर अर्थी फूक प्रदर्शन किया जाएगा।

तहसील सचिव हरीराम चक शेरेवाला ने बताया कि तहसील कमेटी मुक्तसर की तरफ से जंगीर सिंह रुपाणा की प्रधानगी में हुई बैठक में यह फैसला किया गया। पंजाब सरकार की तरफ से बिजली के रेटों में करीब एक दर्जन से अधिक बार बढ़ोतरी की गई है। इसके तहत पंजाब में खपतकारों को 10 रुपये प्रति यूनिट के हिसाब से बिजली दी जा रही है, जबकि दिल्ली तथा हरियाणा में पंजाब के मुकाबले रेट कम है। उन्होंने कहा कि इसी तरह केंद्र सरकार की तरफ से पेश किए बजट में आम लोगों को कोई सहूलत देने की जगह उल्टा ढाई रुपये प्रति लीटर डीजल तथा पेट्रोल में बढ़ोत्तरी करके महंगाई और बढ़ा दी है। जिससे पहले ही घाटे में चल रही किसानी पर भी बुरा प्रभाव पड़ा है। उन्होंने मांग की है कि बिजली के रेटों में बढ़ोतरी को वापस लें। फसलों के भाव समर्थन रिपोर्ट मुताबिक लागू किए जाएं, लोगों को साफ पानी मुफ्त में मुहिया करवाया जाए। सेहत सहूलियतें तथा उच्च शिक्षा जरुरतमंद परिवारों को मुफ्त में दी जाए। उन्होंने कहा कि अगर कैप्टन सरकार ने जल्दी ही बिजली के रेटों की बढ़ोतरी को वापस न लिया तो 22 जुलाई को डीसी दफ्तर के सामने प्रदर्शन किया जाएगा। इस मौके पर कामरेड तरसेम लाल, धर्मपाल झबेलवाली, लक्ष्मण सिंह, खरैती लाल, मेजर सिंह आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran