संवाद सूत्र, मंडी बरीवाला (श्री मुक्तसर साहिब)

सफाई कर्मचारी यूनियन मंडी बरीवाला की तरफ से पंजाब सरकार की अर्थी फूंकी गई। नेताओं ने कहा कि सरकार मुलाजिम विरोधी फैसले लेकर कारपोरेशन घरानों के हाथों लूट करवाने पर तुली हुई है। इस कारण समूह मुलाजिम तथा आम लोगों में भारी रोष पाया जा रहा है।

नेताओं ने कहा कि सरकार की तरफ से किरत कानूनों में संशोधन कर नए कानून बनाए जा रहे हैं। पंजाब के समूह विभागों के कच्चे कर्मचारियों को रेगुलर नहीं किया जा रहा। जुलाई 2018 से 2020 जुलाई तक की पांच महंगाई भत्तों की किश्तों सहित 133 माह के बकाये को दबाने की कोशिश की जा रही है। तीन वर्षों से बकाया पे कमिशन की रिपोर्ट को लागू न करने की मनसा को लगातार आगे बढ़ाया जा रहा है। पंजाब में वेतन आयोग के अनुसार नई भर्ती के नोटिफिकेशन जारी किए जा रहे हैं। मोबाइल फोन भत्तों में नजायज कटौती की जा रही है, खाली पड़ी आसामियों को भरने के लिए रेगुलर भर्ती नहीं की जा रही एक जनवररी 2004 से भर्ती मुलाजमों की नई पेंशन को रद्द कर पुरानी पेंशन योजना को लागू नहीं किया जा रहा। बोर्ड तथा कारपोरेशन के मुलाजिमों को पेंशन लागू नहीं की जा रही है।

इस अवसर पर सफाई सेवक यूनियन बरीवाला के प्रधान शाम लाल, वाईस प्रधान रतन लाल, मुख्य सलाहकार रानी देवी, सूरज भाजन, सत प्रकाश तथा समूह कर्मचारी उपस्थित थे।

----

सहदेव शर्मा

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!