संवाद सूत्र, श्री मुक्तसर साहिब

बाल विदुषी देवी स्वाति ने कहा कि कथा सुनने से मनुष्य भवसागर से पार हो जाता है। कथा चाहे कोई भी हो, श्रवण करने से जन्म-जन्मांतर के पाप धुल जाते हैं। स्वाति देवी ने ये विचार बागवाला स्कूल में श्री गो¨वद गौलोक धाम रुद्रेश्वर भक्ति आश्रम ट्रस्ट व श्री श्याम मंदिर कमेटी की ओर से अनाथ बच्चों की सहायतार्थ चल रही संगीतमय श्री राम कथा के दौरान श्रद्धालुओं के विशाल जनसमूह के समक्ष प्रवचनों की अमृतवर्षा करते हुए व्यक्त किए। उन्होंने राम नाम की महिमा पर प्रकाश डालते हुए कहा कि राम से बड़ा उनका नाम है। मात्र श्री राम चंद्र जी का नाम जपने से ही बड़े से बड़ा संकट पल में दूर हो जाता है। इसलिए मुसीबत की घड़ी में राम नाम जप के देखो, मुश्किलें पल में खत्म हो जाएंगी। संकट मोचन हनुमान जी प्रभु श्री राम चंद्र जी का नाम लेकर कठिन से कठिन कार्य को भी पल भर में ही कर डालते थे। उन्हें प्रभु श्री राम चंद्र जी के नाम पर पूरा भरोसा था, इसलिए वह जय श्री राम कहते ही मुश्किल से मुश्किल कार्य को हल कर डालते थे। राम का नाम जपने से सभी काम आसान हो जाते हैं। इसलिए अगर कोई विपदा या मुश्किल की घड़ी आ जाए तो राम का नाम जपो और अपनी मुश्किल को राम चंद्र पर छोड़ दो। वह खुद मुश्किलों को हर लेंगे। स्वाति जी ने कहा कि मर्यादा पुरूषोत्तम राम चंद्र तो सभी के दुखों को हरने वाले हैं। अगर भव सागर से पार होना है तो प्रभु श्री राम चंद्र के नाम का जाप करो। इस मौके आसमान प्रभु श्री राम चंद्र जी के जयकारों से गूंज उठा।

Posted By: Jagran