वेद प्रकाश, श्री मुक्तसर साहिब

पीने वाले शुद्ध पानी के लिए लोग तरस रहे हैं। धरती का निचला पानी खराब होने के कारण लोग कैंसर जैसी बीमारियों का शिकार हो रहे हैं। लोगों को सिर्फ नहरी पानी ही शुद्ध मिलने की आशा है लेकिन नहरी पानी में भी सीवरेज का पानी मिक्स होने के कारण लोग बहुत दुखी हैं। गांवों और शहरों में जल सप्लाई एंड सेनिटेशन विभाग की तरफ से सप्लाई किया जा रहा नहरी पानी सीवरेज पानी की मिलवाट वाला और कीटाणु युक्त आ रहा है। इस समस्या के हल के लिए कोई सुनवाई करने वाला नहीं। विभाग के किसी मुलाजिम को इस समस्या बारे अवगत करवाया जाता है तो वह लोगों की फरियाद को अनसुनी कर देते हैं।

गांव के पंचायत सदस्य चंद सिंह, रेशम सिंह, बलविदर सिंह, सोहन सिंह, ज्ञान सिंह, जसविदर सिंह, राजिदर सिंह, जसविदर कौर, सुखविदर कौर, सुखदीप कौर, मनप्रीत कौर, रुपिदर कौर, महकप्रीत कौर व गुरमेल कौर ने बताया कि पिछले कई महीनों से टूटियों में गंदा व मिक्स पानी आ रहा। वह कई बार विभाग के कर्मचारियों को इस समस्या बारे अवगत करवा चुके हैं। परंतु कोई भी सुनवाई नहीं हो रही जिस कारण उनको मजबूरी बस यह पानी पीना पड़ रहा है। उन्होंने बताया कि इसी पानी के साथ वह कपड़े धोते हैं, पशुओं को भी पानी पिलाया जाता है। यह पानी पीने के साथ खुजली व अन्य बीमारियों के शिकार हो रहे हैं। गांव वासियों ने पंजाब सरकार और जिला प्रशासन के उच्च अधिकारियों से मांग की कि घरों में आ रहा गंदे पानी की निकासी को ठीक करके साफ सुथरा पानी लोगों तक पहुंचाया जाए जिससे लोग बीमारियां से बच सकें। उन्होंने सबंधित विभाग को चेतावनी देते कहा कि यदि जल्द इस समस्या का हल न किया गया तो वह विभाग के दफ्तर आगे धरना लगा कर बैठने के लिए मजबूर होंगे। इनसेट

कर्मचारी को भेज कर करवाएंगे जांच: एसडीओ

जल सप्लाई एंड सेनिटेशन विभाग के एसडीओ जगमोहन सिंह ने कहा कि यह समस्या उनके ध्यान में नहीं थी। परंतु अब ध्यान में आ गई है और वह आज ही कर्मचारी भेज की जांच करवाते है।

Edited By: Jagran