जागरण संवाददाता, श्री मुक्तसर साहिब

बठिडा रोड पर स्थित गांव भुल्लर में मंगलवार को जमकर हंगामा हुआ। गांव के एक युवक के घर में आए आधा दर्जन अन्य गांवों के युवकों की पहले ग्रामीणों ने जमकर धुनाई की और उसके बाद उन्हें पुलिस के हवाले किया। काबू किए इन युवकों पर ग्रामीणों को नशा तस्करी का शक है। जिस युवक के पास वे आए थे ग्रामीणों के अनुसार वह सरेआम चिट्टा बेचता है, जिसे बहुत बार समझाया भी जा चुका है। लेकिन इसके बावजूद वह अपनी हरकतों से बाज नहीं आता। पुलिस को सौंपे एक युवक से देसी कट्टा एवं कारतूस भी बरामद हुए हैं। हालांकि पुलिस का दावा है कि इन युवकों के पास से कोई भी नशीला पदार्थ बरामद नहीं हुआ है। पुलिस की ओर से इनसे पूछताछ की जा रही है।

क्षेत्र के अलग-अलग गांवों के छह युवक मंगलवार की सुबह गांव के ही एक युवक के घर पर पहुंचे। इसके बारे में जब ग्रामीणों को पता चला तो वे इकट्ठे हो गए जिसमें बड़ी गिनती में नौजवान शामिल थे। उन्होंने उस घर को घेरा डालकर युवकों को दबोच लिया। युवकों को काबू करने से पहले ग्रामीणों की ओर से थाना सदर पुलिस को भी सूचित किया गया था। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि यह युवक सरेआम चिट्टा व स्मैक बेचते हैं। गांव के जिस युवक के पास यह लोग आए हुए थे, उसे अनेक बार चिट्टा बेचने से रोका जा चुका है। कई बार पुलिस को सूचना भी दी जा चुकी है। लेकिन इसके बावजूद पुलिस ने उसे कभी गिरफ्तार नहीं किया। ग्रामीणों ने पुलिस पर इन लोगों से मिलीभगत के गंभीर आरोप भी लगाए। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि आज की घटना को लेकर भी पुलिस को तुरंत सूचित कर दिया गया था परंतु फिर भी पुलिस दो घंटे देरी से पहुंची है। ग्रामीणों ने पकड़े गए सभी युवकों को पुलिस हवाले कर दिया।

थाना सदर के प्रभारी सुखदेव सिंह ने कहा कि सात युवकों को हिरासत में लिया गया है। इनमें रणजोध सिंह जोधा, निवासी गांव भुल्लर, अमरजीत सिंह निवासी गांव सोथा, अमनदीप सिंह निवासी गांव कोठे सुरगापुरी, जगमीत सिंह निवासी गांव दोदा, सतिदरपाल सिंह निवासी आदेश नगर, श्री मुक्तसर साहिब, वरिदर सिंह व रेशम सिंह निवासी गांव भुट्टीवाला शामिल हैं। इन लोगों से देसी पिस्तौल बरामद हुआ है परंतु किसी के नशा बरामद नहीं हुआ है। यह लोग गांव में कोई झगड़ा करने के लिए पहुंचे थे। फिर भी ग्रामीणों की जो नशा तस्करी के शक जाहिर किए गए हैं, उसकी गंभीरता से पड़ताल की जा रही है।

Edited By: Jagran