संवाद सूत्र, मलोट (श्री मुक्तसर साहिब)

गुरुद्वारा चरण कमल भोरा साहिब घुमियारा रोड दानेवाला पर पूर्णिमा और सिख धर्म के तीसरे गुरू श्री गुरु अमरदास जी के ज्योति जोत दिवस को समर्पित धार्मिक समागम करवाया गया। इस मौके सुबह समय पहले गुरुवाणी के जाप किए गए।

विशेष तौर और पहुंचे रागी जत्थे भाई गगनदीप सिंह श्री मुक्तसर साहिब वाले और भाई गुरबीर सिंह मलेशिया वालों की तरफ से ईश्वरीय वाणी का कीर्तन किया गया। गुरुघर के मुख्य सेवक बाबा बलजीत सिंह ने संगत को संबोधन करते कहा कि गुरु अमरदास जी का जीवन सेवा और समर्पण की सबसे बड़ी मिसाल है। उन्होंने कहा कि आज के युग में मनुष्य सब्र ही गंवा रहा है जब कि सब्र और श्रद्धा के साथ मनुष्य जिदगी में बड़ी प्राप्तियां कर सकता है। उन्होंने संगत को गुरु अमरदास जी की शिक्षाएं पर चलने की प्रेरणा देते कहा कि विश्वास और ²ढ़ इरादे के साथ किए कामों में परमात्मा आपने आप वास करता है और कार्य हमेशा सफल होते हैं। इस मौके गुरू का लंगर भी अटूट बांटा गया।

इस मौके डा. शमिदर बराड़, जगमीत सिंह, गुरजीत सिंह गिल, लखविदर सिंह, निर्मल कौर गिल, बलविदर कौर बराड़, काला सिंह बराड़ राजस्थान वाले और कुलदीप सिंह शेरांवाली आदि उपस्थित थे।

Edited By: Jagran