संवाद सूत्र, श्री मुक्तसर साहिब

ग्रामीण और खेत मजदूर जत्थेबंदियों के सांझे मोर्चे की तरफ से 29 अक्टूबर को मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी के शहर मोरिडा में मजदूरों की मांगों को लेकर की जा रही सूबा स्तरीय रैली की तैयारियों जोरों पर चल रही हैं। खेत मजदूर नेताओं की तरफ से गांवों में बैठकें कर लोगों को रैली संबंधी लामबद्ध किया जा रहा है। पंजाब खेत मजदूर यूनियन की तरफ से बुधवार को गांव लंडेरोडे और कोटली देवन में बैठकें की गई।

पंजाब खेत मजदूर यूनियन के जिला महासचिव तरसेम सिंह खुंडेहलाल ने कहा कि मजदूरों की कर्ज माफी और रोजगार गारंटी जैसी अहम मांगों को लेकर हजारों की संख्या में मजदूरों की तरफ से 29 अक्टूबर को मोरिडा में रोष रैली करके परिवारों समेत मुख्यमंत्री पंजाब की रिहायश की तरफ मार्च किया जाएगा। उन्होंने कहा कि माइक्रोफाइनांस कंपनियों समेत मजदूरों के कर्जे माफ करने, रोजगार गारंटी देना, जरूरतमंद गरीबों को रिहायशी प्लाट और मकान उसारी के लिए उचित अनुदान देने, बिना नागा पांच हजार रुपये महीना बुढापा, विधवा, अपंग और आश्रित पेंशन देने, मनरेगा मजदूरों की दिहाड़ी 600 रुपये करना, गुलाबी सूंडी से खराब हुए नरमे का मुआवजा प्रति मजदूर परिवार तीस हजार रुपये दिया जाए।

लखीमपुर खीरी में मारे गए किसानों को श्रद्धांजलि भेंट करते अजय मिश्रा को बर्खास्त करने और आरोपितों को सख्त से सजा देने की मांग की गई। सिघु बार्डर पर नौजवान के वहिशीयाना कत्ल की जोरदार निदा की गई।

इस मौके पर हरप्रीत कौर, जसप्रीत कौर, मनजीत कौर, बलविदर सिंह, बख्शीश सिंह, रमनदीप कौर, जसपाल कौर, गुरतेज सिंह के अलावा मजदूर नेता उपस्थित थे।

Edited By: Jagran