संवाद सूत्र, मलोट (श्री मुक्तसर साहिब)

बुधवार को मलोट मुक्तसर मार्ग पर पड़ते गांव औलख के पास कराईवाला रास्ते पर अचानक आग लगने से दो किसानों की करीब 13 एकड़ गेहूं की फसल जलकर राख हो गई. जबकि इस आगजनी की घटना में 3 एकड़ नाड़ भी जला है। आग लगने का कारण घटना स्थल के उपर से गुजरने वाली 11 केवी बिजली की तारों से स्पार्किंग बताया जा रहा है। पावरकॉम अधिकारियों का तर्क है कि औलख ग्रिड से सभी क्षेत्र की मोटरों को दी जाने वाली बिजली सप्लाई को बंद रखा जा रहा है। ग्रामीणों ने इसे पावरकाम विभाग की लापरवाही करार देते हुए नुकसान की भरपाई करने की मांग की है।

किसान तोता ¨सह व बोहड़ ¨सह ने बताया कि दोपहर करीब डेढ़ बजे उनके खेतों के उपर से गुजरती 11 केवी बिजली की तारों में स्पार्किंग हुई और नीचे गिरी ¨चगारी ने देखते ही देखते उनके खेतों में लगी फसल को अपने लपेट में ले लिया। आग काफी तेजी के साथ आगे बढ़ने लगी। हालांकि आग लगने के बाद वह ग्रामीणों समेत मौके पर पहुंच आग बुझाने के प्रयास में जुट गए। वही फायर ब्रिगेड के मुलाजिमों ने भी मौके पर पहुंच आग बुझाने का प्रयास करना शुरु कर दिया। आग ने उनकी करीब 13 एकड़ फसल को जलाकर राख कर दिया। इस आग से तोता ¨सह की सात तथा बोहड़ ¨सह की छह एकड़ गेहूं जल गई है।

उन्होंने पावरकाम को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि पावरकाम हर रोज सुबह के आठ बजे से लेकर शाम के आठ बजे तक बिजली सप्लाई बंद रखता है। परंतु आज बिजली चल रही थी और तेज हवां के कारण तारों में हुई स्पार्किंग से निकली ¨चगारी ने उनकी फसल को राख कर दिया। उन्होंने पावरकाम से नुकसान की भरपाई करने की मांग की है।

इनसेट

आग फैलने से रोकने के लिए जोत दी फसल

बताते है कि आग तेजी के साथ साथ लगते खेतों की ओर बढती जा रही थी। इसी बीच किसान गुरमीत ¨सह ने ट्रैक्टर के जरिए खुद की जमीन पर खड़ी फसल को जोत दिया। फसल के बीच फासला पड़ने से आग उस रास्ते से आगे बढ़ने से रुक गई। इनसेट

जाच की जा रही है : राधेश्याम

पावरकॉम के अधिकारी राधेश्याम का कहना है कि औलख ग्रिड से सभी क्षेत्र की मोटर सप्लाई को बंद कर दिया गया था। परंतु आग लगने के बाद इसकी जांच की जा रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!