संवाद सूत्र, मलोट (श्री मुक्तसर साहिब) : लड़कियों के पास खड़े विद्यार्थियों की चार दिन हुई बहस वीरवार को गंभीर रूप धारण कर गई। इसको लेकर दो गुट हथियारों समेत कॉलेज में ही आपस में भिड़ गए। एक दूसरे पर जानलेवा हमला कर दिया। इसमें तीन विद्यार्थी घायल हो गए, जिसमें एक की हालत गंभीर है, जिसे फरीदकोट रेफर कर दिया गया है।

शहर के सरकारी अस्पताल मे उपचार अधीन सोनू पुत्र संजीव कुमार निवासी पटेल नगर व गगनदीप पुत्र गुरचरण सिंह निवासी बैक साइड बस स्टैंड मलोट ने बताया कि वह मिमिट कॉलेज के छात्र हैं। सोमवार को कॉलेज में एक जगह छात्र-छात्राएं खडे़ थे। वहीं पर उनकी एक अन्य गुट के साथ बहसबाजी हो गई। इसके बाद दोनों में हाथापाई भी हुई थी, लेकिन साथ ही कुछ लोगों ने आपसी समझौता करवा दिया।

वीरवार को गगनदीप पेपर देने के लिए गया था कि सुबह अचानक कुछ विद्यार्थियों ने लड़ाई शुरू कर दी। इस कारण गगनदीप की बाजू में चोटें आई। दोपहर को छात्रों का पेपर था। इसके बाद दोनों गुट हथियारों समेत भिड़ गए, जिनके पास लाठियां, रॉड व अन्य हथियार थे। इस लड़ाई में गगनदीप, सोनू व कमलदीप पुत्र धर्मपाल निवासी अब्बुल खुराना घायल हो गए, जिन्हें सिविल अस्पताल मलोट में भर्ती करवाया गया। कमलदीप के सिर पर अधिक चोट होने के कारण उसकी गंभीर हालत को देखते फरीदकोट रेफर कर दिया गया है।

थाना सिटी प्रभारी अनपदीप सिंह ने बताया कि अभी उनके पास अस्पताल से कोई रिपोर्ट नहीं आई है। जैसे ही उनके पास कोई शिकायत आएगी तो वह कार्रवाई कर देंगे।

स्वजनों ने लगाए प्रिसिपल पर आरोप

घायल हुए विद्यार्थियों के स्वजनों ने प्रिसिपल पर आरोप लगाया है। उन्होंने बताया कि उनकी ओर से लिखकर प्रिसिपल को दिया गया था, लेकिन फिर भी उन्होंने कोई बात नहीं की। जब यह लड़ाई हुई तो वहां पर 15 के करीब शिक्षक खड़े थे। किसी ने उन्हें छुड़वाया तक नहीं, जिस कारण यह बात इतनी बड़ी है।

-------------

प्रिसिपल संजीव शर्मा ने बताया कि पहले भी इनकी लड़ाई हुई थी उन्होंने दोनों गुटों को अपने परिजनों को बुलाने को कहा था, लेकिन वह नहीं लेकर आए। आज भी लड़ाई कॉलेज से बाहर हुई है। फिर भी उन्होंने घायलों को कालेज की वैन पर ही अस्पताल पहुंचाया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!