रोहित कुमार, श्री मुक्तसर साहिब

नगर कौंसिल चुनाव में कांग्रेस ने 17 वार्डो पर, अकाली दल ने 10, आम आदमी पार्टी ने दो, भाजपा ने एक तथा एक ने आजाद उम्मीदवार के तौर पर जीत हासिल की थी। जिसमें कांग्रेस ने 17 सीटों पर जीत हासिल करके प्रधानगी को लेकर अपनी दावेदारी पेश की थी। 20 अप्रैल को शम्मी तेरिया के प्रधान बनते ही क्यासों पर विराम चिन्ह लग गया।

प्रधान के चुनाव को लेकर सोमवार शाम को ही कैबिनेट मंत्री सुखजिदर सिंह सुख सरकारिया मुक्तसर पहुंच गए थे। मंगलवार सुबह साढ़े आठ बजे से ही बठिडा रोड स्थित नहरी कालोनी में बने रेस्ट हाऊस में कांग्रेस के लोकल नेताओं द्वारा मंत्री के साथ बंद कमरें में बैठकें की गई। काफी मशक्कत के बाद कांग्रेस पार्षदों को एकजुट करने के बाद सबको एक बस द्वारा नगर कौंसिल ले जाया गया। वहां पर कुछ समय बाद शम्मी तेहरिया को प्रधान तथा मिटू कंग को मीत प्रधान बनाने की घोषणा की गई। शम्मी तेहरिया इससे पहले भी नगर कौंसिल के प्रधान रह चुके हैं। इस मौके पर गिद्दड़बाहा के विधायक अमरिदर सिंह राजा वडिग, पूर्व विधायक करण कौर बराड़, नगर परिषद चेयरमैन नरेंद्र काऊनी, कांग्रेस महासचिव जगजीत सिंह हनि फत्तनवाला सहित अनेक कांग्रेसी उपस्थित थे। तीन माह में ही बदल जाएगा कांग्रेस का प्रधान : बरकंदी

अकाली दल के विधायक कंवरजीत सिंह रोजी बरकंदी ने कहा कि कांग्रेस ने प्रधान चुनने के लिए सभी नियमों की धज्जियां उड़ाई गई है। नगर कौंसिल की पहली बैठक के लिए 31 में से 21 पार्षदों के बैठक में होना जरूरी थी लेकिन कांग्रेस के 17 में से 16 पार्षद ही मौजूद थे। उन्होंने बताया कि अकाली दल के सभी पार्षदों ने बैठक का बायकॉट किया था और आम आदमी पार्टी व भाजपा का भी पार्षद नहीं था इसलिए कोरम पूरा नहीं होता। उन्होंने बताया कि कांग्रेसियों ने नियमों की धज्जियां उड़ाकर प्रधान बनाया है। यह प्रधान तीन माह भी नहीं रह पाएगा और प्रधान बदलना पड़ेगा। इनसेट

आप पार्षदों को अनदेखा किया तो होगा विरोध : संधू

आम आदमी पार्टी के नेता जगदीप सिंह संधू ने कहा कि नगर कौंसिल का प्रधान कांग्रेस ने चुना गया है वह सही नहीं है। चाहे कांग्रेस ने किसी भी तरह से प्रधान को चुना हो, अगर उनके पार्षदों को कांग्रेस ने अनदेखा किया तो वह इसका विरोध करेंगे। उन्होंने कहा कि पार्षद चाहे जो भी हो पार्षद का हक बनता है कि वह सबके वार्डों का बराबरी पर कार्य करवाएं। इनसेट

कोरम के लिए 50 फीसद की जरुरत होती है : ईओ

ईओ विपन कुमार ने कहा कि प्रधानगी का कोरम को पूरा करने के लिए 50 फीसद सदस्यों की आवश्यकता होती है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के पास संख्या पूरी थी। इसलिए प्रधान बनाया गया है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप