संवाद सूत्र, श्री मुक्तसर साहिब

सिविल सर्जन डा. रंजू सिगला ने कोरोना के नए रूप ओमिक्रोन वायरस के बारे में बताया कि कोरोना एक घातक बीमारी है और कई देशों में कोरोना का नया स्वरूप ओमिक्रोन के रूप में आ गया है। हमारे देश में भी इस वायरस ने पैर पसारने शुरू कर दिए हैं। कुछ शहरों में इस वायरस केस पाजिटिव पाए गए हैं।

उन्होंने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर से बचने के लिए जिला प्रशासन और सेहत विभाग की तरफ से समय समय जारी हिदायतों और सावधानियों का पालन किया जाए। बाजारों में देखने में आया है कि कोई भी व्यक्ति मास्क नहीं पहन रहा और दूरी का ध्यान नहीं रखा जा रहा। घर से बाहर जाते समय मास्क पहनें, शारीरिक दूरी का ध्यान रखें, हाथों को बार बार साबुन के साथ साफ करे या सैनिटाज करौं। खुले स्थानों पर न थूके, भीड़ वाले स्थानों पर जाने से परहेज करें। सावधानियों के साथ साथ कोरोना टीकाकरण की दोनों डोज भी लगवानी जरूरी हैं। सेहत विभाग की तरफ से शहरों और गांवों में टीकाकरण के कैंप लगाए जा रहे हैं।

हर घर दस्तक मुहिम के द्वारा भी सेहत विभाग का फील्ड स्टाफ घर घर पहुंच करके टीकाकरण कर रहा है। सर्जन डा. रंजू सिगला ने आम लोगों से अपील की कि जिन लोगों की दूसरी डोज लगवानी बाकी है वह अपने नजदीक के टीकाकरण कैंप से टीकाकरण जरूर करवाएं। उन्होंने अपील की कि इस तीसरी लहर से बचने के लिए टीकाकरण करवा कर और सावधानियां इस्तेमाल कर जिला प्रशासन और सेहत विभाग का सहयोग दें।

इस समय डा. किरनदीप कौर, डा. प्रभजीत सिंह, सुखमंदर सिंह, गुरचरन सिंह तथा विनोद खुराना उपस्थित थे।

Edited By: Jagran