संवाद सहयोगी, श्री मुक्तसर साहिब : मिठाई विक्रेता तथा हलवाईयों के साथ सिविल सर्जन डॉ. नवदीप सिंह ने मीटिग की। उन्होंने कहा कि सेहत विभाग आम लोगों को साफ तथा सुरक्षित खाने पीने की वस्तुएं मुहैया करवाने के लिए वचनबद्ध है। समूह हलवाइयों तथा मिठाई विक्रेताओं को आदेश जारी करते हुए साफ सुथरी तथा मिलावट के बिना खाने पीने की वस्तुएं तैयार कर बेची जाएं। मिठाईयां बिना रंग से तैयार की जाएं तथा किसी भी तरह की मिलावट ना की जाए। समूह हलवाइयों की तरफ से विश्वास दिलवाया गया कि कोई भी हलवाई किसी भी मिठाई में रंग का इस्तेमाल नहीं करेगा और ना ही मिलावटखोरी करेगा अगर कोई हलवाई रंग का इस्तेमाल करेगा या मिलावट करेगा तो उसकी सूचना यूनियन की तरफ से सेहत विभाग को की जाएगी। सिविल सर्जन ने कहा कि मिठाई बनाने वाले हलवाई साफ कपड़े पहने, नाखून काटकर रखें, दस्ताने पहने, सिर ढक कर रखें, तंदरुस्त हों, छूत की बीमारियों से दूर रहें। मिठाई बनाते समय किसी भी तरह का धागा, मोली, धड़ी तथा गहने ना डाले, हाथ साबुन से अच्छी तरह से धोएं, मिठाई बनाने वाली जगह सिगरेट पीना, थूकना, छींक मारना, बालों में हाथ मारना, खारिश करना, पान वगैरहा खाना, चुइंगम चबाना या भोजन नहीं खाना चाहिए। एलुमिनियम के वर्क पर पूर्ण पाबंदी है। खाने पीने वाली वस्तुओं में इस्तेमाल होने वाला सामान अच्छी क्वालिटी का होना चाहिए। उन्होंने कहा कि त्यौहारों के सीजन में घी तथा खोए की खपत बढ़ जाने के कारण इसमें मिलावट का खतरा रहता है। खाने-पीने की वस्तुओं का कारोबार करने के लिए लाइसेंस या रजिस्ट्रेशन करवाना जरूरी है। इस मौके पर फूड सेफ्टी अधिकारी संजय कटियाल, सुखमंदर सिंह, दीपक कुमार, सरबजीत सिंह आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!