जागरण संवाददाता, श्री मुक्तसर साहिब : भारतीय किसान यूनियन (सिद्धूपुर) की ओर से किसानों की समस्याओं को लेकर वीरवार को राज्य सरकार के नाम पर जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपा। किसानों ने कहा कि राज्य सरकार व प्रशासन किसानों को पराली को आग लगाने से रोक रहा है, जबकि आर्थिक मंदहाली के कारण किसानों को यह पराली खेत में जोतना संभव नहीं है। इसके लिए एक तो किसानों के पास एक तो समय की कमी है, दूसरा आर्थिक कमजोरी। इसलिए या तो सरकार उन्हें 200 रुपये प्रति क्विटल के हिसाब से बोनस दे। नहीं तो वह पराली को आग ही लगाएंगे। इसके साथ ही उन्होंने बेसहारा पशुओं व जंगली जानवरों की ओर से किए जा रहे नुकसान से बचाव करने को भी कहा। उन्होंने कहा कि सरकार गोसेस के नाम पर पैसा एकत्रित कर रही है, इसलिए इस गोसेस को इस्तेमाल किया जाए। बीते दिनों में बाढ़ के कारण हुए फसलों के नुकसान का उचित मुआवजा देने व साथ ही बारिश के कारण खराब हुई फसल की मंडी में खरीद करने की भी मांग की। उन्होंने राज्य सरकार से किसानों का कर्ज तुरंत माफ करने व स्वामीनाथन रिपोर्ट की सिफारिश अनुसार फसलों का दाम देने की भी मांग उठाई। किसानों ने नायब तहसीलदार प्रवीन सच्चर को राज्य सरकार के नाम पर ज्ञापन सौंपा। इस मौके पर जिलाध्यक्ष सुखदेव सिंह, महासचिव निर्मल सिंह, सुमंद सिंह कुकरियां, खुशवंत सिंह, गुरदीप सिंह, जसवंत सिंह, बलदेव सिंह, सुखचैन सिंह, मुख्तयार सिंह, पूरण सिंह, प्रताप सिंह, जगमीत सिंह, गरसंत सिंह, करन सिंह आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!