संवाद सहयोगी, श्री मुक्तसर साहिब

डेमोक्रेटिक टीचर्स फ्रंट पंजाब जिला इकाई मुक्तसर की तरफ से राज्य स्तर पर भाई महासिंह कांप्लेक्स में स्थित हाल में एकता कन्वेंशन की गई। इसमें राज्य महासचिव जसविदर झबेलवाली ने बताया कि राज्य स्तर पर पांच संघर्षील जत्थेबंदियों ने अध्यापक हितों के लिए मिलकर एक जत्थेबंदी के तौर पर कार्य करने का फैसला लिया है।

वक्ताओं ने कहा कि किरती किसान यूनियन के राज्य महासचिव राजिदर सिंह दीपसिंहवाला ने सरकार की फांसीवादी नीतियों की आलोचना करते हुए मुलाजिम, मजदूर, किसान, नौजवान तथा विद्यार्थियों केएक होने के लिए कहा। डेमोक्रेटिक टीचर्स फ्रंट पंजाब के साथ एकता करने वाली जत्थेबंदियों के नेताओं अशोक पूनिया, कुलवंत सिंह, मनिदर सिंह, रवि कुमार, विनय छाबड़ा, मनदीप सिंह, सतविदर सिंह तथा अनिल कुमार को जिला कमेटी सदस्य बनाने पर सहमति प्रकट की। राज्य नेता परमात्मा सिंह ने अध्यापकों की पदोन्नति रोकने, अलग-अलग भर्तिर्याें के पैडिग रेगुलर आर्डर न जारी करने, अपने घरों से दूर नौकरी कर रहे समूह 6060,3582 काडर सहित अनेक अध्यापकों की बदली करवाने, बदली करवा चुके अध्यापकों को फारिग ना करने, बच्चों को रोगी बनाकर आनलाइन शिक्षा को असल स्कूली शिक्षा के बदल के तौर पर थोपने तथा गैर संविधानक तरीके से झूठे आंकड़े एकत्रित करवाने आदि मांगों को लेकर शिक्षा सचिव मोहाली के दफ्तर के सामने रोष धरने में बड़े स्तर पर शमूलियत करने का निमंत्रण दिया। डेमोक्रेटिक टीचर्स फ्रंट पंजाब के राज्य प्रेस सचिव तथा जिला मुक्तसर के प्रधान पवन कुमार ने पंजाब तथा यूटी मुलाजिम संघर्ष मोर्चा की तरफ से 29 अक्टूबर को बठिडा में की जा रही जोनल रैली में शमूलियत करने का निमंत्रण दिया है। इस मौके पर सरदूल सिंह, कुलविदर सिंह, राजविदर सिंह, पवन चौधरी, सुभाषचंद्र, गुरदेव सिंह, बलकरण सिंह, जनक राज, विशु छाबड़ा, परमिदर सिंह, प्रवीन शर्मा, सुरिदर कुमार, धीरज कुमार, बलबीर सिंह, जसकरण सिंह, गुरमीत सिंह, लखविदर सिंह, गुरप्रीत सिंह, जगतार सिंह, हरदीप सिंह, दिलबाग सिंह आदि मौजूद थे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!