जागरण संवाददाता मोगा : शहर में 28 दिसंबर से शुरू हुए सर्दी का कहर 17 दिन से जारी है। शनिवार की सुबह से चली शीतलहर ने कड़ाके की ठंड के साथ ठिठुरन और बढ़ा दी। दिन का तापमान एक डिग्री और गिरकर 15 डिग्री सेल्सियस तक जा पहुंचा जबकि न्यूनतम तापमान छह डिग्री सेल्सियस पर टिका रहा।

मौसम विभाग का अनुमान है कि फिलहाल ठंड के कहर से राहत मिलने की कोई उम्मीद नहीं है जबकि 22 जनवरी से फिर से बारिश होने की संभावना है। पिछले 17 दिन से खुलकर धूप न निकलने से जहा सर्दी ने जनजीवन प्रभावित किया है वहीं कोरोना संक्रमण भी तेजी के साथ पैर पसारने लगा है। हालाकि बारिश होने के बाद संभावना जगी थी कि संक्रमण का प्रकोप कुछ कम होगा, वैसा नहीं हुआ। खांसी व जुकाम की शिकायत आम लोगों में काफी ज्यादा बढ़ गई है। मथुरादास सिविल अस्पताल के चिकित्सकों की मानें तो सामान्य दिनों की तुलना में दोगुने से ज्यादा मरीज खासी, जुकाम व बुखार की शिकायत के साथ अस्पताल में पहुंच रहे हैं। हालांकि टेस्ट करवाने पर इन लोगों की कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आ रही है।

हालत यह है कि दिन के समय में भी कड़ाके की ठंड में बाजारों में निकलना मुश्किल होता जा रहा है। जगह-जगह लोग अलाव सेंक कर सर्दी से राहत पाते को देखे जा सकते हैं। शनिवार को सूरज घने बादलों के बीच छिपा रहा।

Edited By: Jagran