संवाद सहयोगी, मोगा : ट्रेक्टर ट्रालियों में भरकर गोवंश को शहर की तरफ जाने वाली सड़क पर फेंका गया जिससे गोवंश घायल हो गए। इस घटना को लेकर मोगा के गांव मेहमा सिंह वाला के किसानों ने रोष जताया। किसानों ने मामले की सूचना नगर निगम के सेनेटरी इंस्पेक्टर को दी। इसके बाद सरकारी कैटल पौंड की टीम ने मौके पर पहुंच कर घायल गोवंश को उठाकर गोशाला पहुंचाया। सतीश कुमार, जसविदर सिंह आदि ने कहा कि जिले के बहुत से गांव ऐसे हैं जिनमें कुछ लोगों द्वारा आस-पास के गांव से प्रति पशु के हिसाब से कुछ पैसा लिया जाता है। रात के समय यह पशुओं को गांव से भरकर शहर में छोड़ा जा रहा है। जसविदर बराड़ ने कहा कि गत महीनों मोगा के कोटकपूरा रोड पर विशेष नस्ल की गायों का एक ट्रक चोरी-छिपे छोड़ गया था। इन वजहों से शहर में गायों की गिनती बढ़ रही है। गांव से शहर में ट्रालियों में पशु भरकर छोड़ने का मामला गत फरवरी महीने में सामने आया था, जब गांव डगरू ,ड्रोली आदि के किसानों ने पशुओं को ट्राली में लादकर अनाज मंडी में छोड़ने का प्रयास किया था। इस बात की सूचना मिलते ही एसडीएम गुरविदर सिंह जोहल समेत नगर निगम की टीम ने पहुंचकर उक्त लोगों का विरोध किया था लेकिन कोई कार्रवाई अमल में नहीं लाई थी। फसलों को भी करते हैं खराब

किसान मनप्रीत सिंह व अवतार सिंह ने कहा कि गांव से शहर में छोड़े गए जहां लोगों के लिए हादसों का कारण बन रहे हैं। वहीं उनके खेतों में खड़ी फसल के लिए भी बड़ी परेशानी बन रहे हैं। उन्होंने कहा कि खेतों में खड़ी फसल की जहां वह दिन के समय तो राखी करते हैं। वहीं रात के समय भी उनको पहरा देना पड़ता है। अगर वह खेतों में नही आते है तो पशु उनकी गेहूं, धान, सब्जियों समेत हरे चारे की फसल को खराब कर देते है। शहर में गाय छोड़ने के बजाय गांव में बनाई जाए गोशाला

सतीश कुमार ने कहा कि गत महीने सड़क पर आए पशुओं ने पांच लोगों की जिदगी को छीन लिया था। गांव के लोगों को चाहिए कि वह अपने गांव की गायों व बेसहारा गोवंश को शहर में छोड़ने की बजाय गांव पड़ी शामलात जमीनों पर गोशाला में बनाएं जहां पर अपने ही गांव के गोवंश को रखकर उनकी सेवा संभाल करें, ऐसा करने से गांव की पंचायत की आमदन में भी इजाफा होगा। वही पशुओं की भी सेवा संभाल बेहतर ढंग से होगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!