अश्विनी शर्मा, मोगा : शहर की गंदगी का उठान करने वाले ट्रैक्टर-ट्राली की हालत दिन-प्रतिदिन कंडम होती जा रही है। हालात तब गंभीर हो जाते है जब कूड़े के डंप करने के स्थान पर ट्रैक्टर-ट्राली को ले जाया जाता है। चालकों को इन्हीं कंडम हुए ट्रैक्टर-ट्राली के जरिए ही कूड़े को डंप करना पड़ता है। डंप के स्थान पर दलदल व ऊंचाई होने के कारण हादसा होने का भी भय बना रहता है। मजबूरी में चालकों को इन्हीं ट्रैक्टर-ट्राली के सहारे ही कूड़े का उठान करना पड़ता है। कंडम हालत के ये ट्रैक्टर-ट्राली जब खराब हो जाते है तो ठीक होने में भी अधिक समय लगता है और गंदगी का आलम शहर में बढ़ने लगता है जिससे आमजन को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। वहीं निगम अधिकारियों का कहना है कि जल्द ही उक्त समस्या का हल निकाल लिया जाएगा और किसी को भी परेशानी नहीं होने दी जाएगी।

तीन किलोमीटर दूर करना होता है कूड़ा डंप

शहर के विभिन्न हिस्सों से इन आठ ट्रैक्टर-ट्राली के जरिए 75 टन कूड़े का उठान होता है। इस उठाए गए कूड़े का डंप शहर से करीब तीन किलोमीटर दूर गांव धल्लेके में बनाए गए स्थान पर डंप करना होता है। कूड़ा डिस्पोज आफ होने में समय लगने के कारण वहां भी कूड़े के बड़े-बड़े ढेर लगे रहते है और दलदल बनी होने के कारण चालकों को हादसे का डर बना रहता है। हालांकि शहर के विभिन्न हिस्सों में 90 कंपोस्ट पिट्स बनाए गए है व 110 और बनाए जाने है। इसके अलावा तीन एमएफआर (मैटिरियल रिकवरी फेशिलिटी सेंटर) भी बनाए गए हैं। अभी इनका उपयोग पूर्णतया नही हो रहा है।

387 सफाईकर्मी रोजाना करते काम

शहर में सफाई व्यवस्था को दुरूस्त रखने के लिए वाहन चालक समेत 387 सफाई कर्मी रोजाना काम करते है। यह भी पर्याप्त नहीं है, क्योंकि निगम को शहर की व्यवस्था को दुरूस्त रखने के लिए 600 सफाईकर्मियों की जरूरत है। यह कार्य भी अभी पूर्ण नहीं हुआ है। इसके कारण शहर के कई हिस्सों में कूड़े को उठान को देरी होती है। निगम के पास है आठ ट्रैक्टर-ट्राली

निगम के सैनेटरी इंस्पेक्टर अमरजीत सिंह ने बताया कि निगम के पास कूड़ा उठाने के लिए आठ ट्रैक्टर-ट्राली हैं। इसमें से पांच नए ट्रैक्टर-ट्राली 10 मार्च 2019 को विधायक डॉ. हरजोत कमल की उपस्थिति में निगम को सुपुर्द किया गया था। इसके अलावा इससे पहले को जो ट्रैक्टर-ट्राली कंडम हालत में है, उनकी संख्या तीन है। फिलहाल इन्हीं से काम लिया जा रहा है और अभी तक अधिक परेशानी सामने नहीं आ रही। जल्द ही इस समस्या को भी हल कर लिया जाएगा।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!