संवाद सहयोगी, मोगा :मोगा के रेलवे परिसर पर मंगलवार को स्पेशल लो¨डग को लेकर रेलवे विभाग ने गांधी रोड के रेलवे फाटक को मंगलवार सुबह करीब दो घंटे लगातार बंद रखा, इसको लेकर रेलवे विभाग की ओर से जिला प्रशासन से कोई अनुमति नहीं ली गई थी, लंबे समय तक बंद रहे रेलवे फाटक के कारण लंबे जाम से लोगों ने भारी भरकम परेशानी झेलनी पड़ी। ऐसे में कई लोग जाम में फंस कर घंटों धूप में खडे रहे। वही कई लोग लगे हुए लंबे जाम को लेकर रास्ता बदलते हुए नजर आए। जब चाहे तब बंद कर देते है फाटक

मोगा की सब्जी मंडी से सब्जी लेकर आ रहे विजय कुमार ने बताया कि उनका निवास स्थान जवाहर नगर के पास है। वह सप्ताह में कई कई बार मोगा की सब्जी मंडी से सुबह सब्जी लेकर आते है। ऐसे में उन्हें सप्ताह में कई कई बार बंद फाटकों के खुलने का इंतजार करना पड़ता है। उन्होंने बताया कि रेलवे विभाग को चाहिए कि वह फाटक बंद होने का ¨सगल उन्हें गांधी रोड पर लगी ¨सगल लाइट सेदेना चाहिए ताकि लोग फाटक बंद होने की जानकारी मिलते ही अंडर ब्रिज से होते हुए शहर में जा सके। काम से हो जाती है देरी

मोगा के कोर्ट परिसर में कार्यरत हरदीप ¨सह के अनुसार फाटक बंद होने के कारण उन्हें कोर्ट में डयूटी पर पहुंचने में देरी हो जाती है। उन्होंने बताया कि उनको सुबह 9 बजे कोर्ट परिसर में अपने कार्य पर पहुंचना होता है। पर फाटक बंद होने से आधे घंटे से भी ज्यादा फाटक पर ही खडे रहना पड़ता है,अगर फाटक के नीचे से बाइक को निकालते है तो उन्हें रेलवे पुलिस का डर रहता है। समय पर करना चाहिए फाटक बंद

समाजसेवी प्रदीप कुमार ने कहा कि वह रोजाना गांधी रोड से होते हुए कोर्ट परिसर में जाते है । लेकिन रेलवे फाटक पर तैनात कर्मचारियों की ओर से विभागीय आदेशों के तहत फाटक को ट्रेन के आने से आधा आधा घंटा पहले बंद कर दिया जाता है। उन्होंने बताया कि विभाग को चाहिए कि वह रेल गाडी आने से करीब दस मिनट

पहले बंद करे। तीन गाड़ियां एक साथ आने से आई समस्या : मीणा

स्टेशन मास्टर एसआर मीणा का कहना है कि मंगलवार की सुबह एक ही समय में तीन गाड़ियां आ गई थी। इसलिए कुछ समय तक गांधी रोड के फाटकों को बंद रखना पड़ा। उन्होंने कहा कि इससे पहले बहुत कम ऐसी समस्या पेश आती है। मामला ध्यान में नही, जांच कराएंगे : डीसी

डीसी डीपीएस खरबंदा का कहना है कि उक्त मामला उनके ध्यान में नही है, वह इस मामले की जांच करवाएंगे और उसके बाद ही कोई कमेंट दे सकतें हैं।

Posted By: Jagran