राज कुमार राजू, मोगा : सेहत विभाग की ओर से जहां बरसात के मौसम में लोगों के घरों में जांच कर लारवा मिलने पर चालान काटे जा रहे हैं, वहीं सिविल अस्पताल में पिछले दो माह से गायनी वार्ड के बाहर सीवरेज जाम रहने से मच्छरों की भरमार है, जिससे अस्पताल में आने वाले मरीज भी मलेरिया व डेंगू का शिकार हो सकते हैं।

सोनू, सुरेन्द्र भुल्लर, बलतीत कौर, सिमरनजीत गिल ने बताया कि वह अस्पताल में अपने परिवार के सदस्यों का उपचार करवाने के लिए आए थे। बुधवार को तो टीबी विभाग व इंमरजैसी के आगे सीवरेज का गंदा पानी फैला हुआ था, जिससे पैदा हो रही दुर्गंध के बारे में जब विभाग में बैठे कर्मचारियों को बताया तो उन्होंने संबंधित विभाग को अवगत करवाया। वीरवार को जब वह फिर से अस्पताल में दवा लेने के लिए आए तो वहां सीवरेज से लीकेज होने वाला पानी सड़क पर भरा हुआ था, जिसके पास से गुजरना असंभव हो चुका था। समाज सेवी कपल मित्तल ने कहा कि सिविल अस्पताल में जल भराव के बारे में शुक्रवार को लिखित तौर पर डायरेक्टर हेल्थ को अवगत करवाएंगे।

वहीं सीएमओ डॉ. जसप्रीत कौर ने बताया कि उनके ध्यान में समस्या आ गई है। पहल के आधार पर हल करवाएंगे।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran