जागरण संवाददाता. मोगा : शहर में लगातार तीसरे दिन भी बारिश जारी रही। हालांकि शुक्रवार को मौसम के तेवर बदलते रहे। सुबह तेज बारिश हुई और बाद में धूप निकली। फिर घनघोर बादलों ने सूरज को छिपा लिया। पिछले 24 घंटे में इस सीजन की सबसे ज्यादा रिकार्ड 28.8 एमएम बारिश रिकार्ड की गई। हालांकि लगातार बारिश के बाद तापमान फिर से एक डिग्री बढ़कर 30 डिग्री सेल्सियस हो गया है।

वहीं लगातार रुक-रुक कर हो रही बारिश के कारण सबसे ज्यादा मुश्किल हाइवे लिंक रोड पर हो रही है। यहां कई स्थानों पर लगातार जलभराव के कारण दोपहिया वाहनों का ही नहीं चारपहिया वाहनों का निकलना भी मुश्किल है। बारिश बंद होने के बाद भी लगातार जलभराव रहने से सड़क भी जल्द टूटने की आशंका है। हाईवे बना रहे ठेकेदार द्वारा सड़क किनारे बन रहे रेन वाटर हार्वेस्टिग नालों का काम अधूरा छोड़ने के कारण ये समस्या पैदा हुई है। इनमें गौमती थापर हास्पिटल, होंडा एजेंसी के निकट, इंप्रूवमेंट ट्रस्ट परिसर के बाहर, डीसी कांप्लेक्स के बाहर जलभराव की स्थिति काफी ज्यादा खराब है।

सरकारी दफ्तरों की टपकने लगी छत

बारिश का दौर लगातार तीन दिन तक जारी रहने के कारण कई पुरानी सरकारी दफ्तरों की छतें टपकने लगी हैं। सबसे ज्यादा मुश्किल में थाना साउथ सिटी का स्टाफ है। बेहद खस्ताहाल हो चुकी थाने की बिल्डिंग का कोई भी कमरा ऐसा नहीं है, जो नहीं टपक रहा हो। खुद थाना प्रभारी का कमरे की छत टपकने के कारण बारिश के दौरान वहां बैठना मुश्किल है। जबकि मुंशियों के लिए थाने का रिकार्ड बारिश से बचाना मुश्किल हो रहा है। ठीक यही स्थिति चड़िक स्थित वेटनरी हास्पिटल की है। पहली बार हास्पिटल की छत लगातार बारिश के कारण टपकना शुरू हो गई हैं।

---

Edited By: Jagran