जागरण संवाददाता, मोगा : चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन के मामले में केस दर्ज होने के बाद भड़के अपना समाज पार्टी के फरीदकोट लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने की तैयारी में जुटे पूर्व आइएएस डॉ.स्वर्ण सिंह ने पुलिस की कार्रवाई को गैर कानूनी करार देते हुए इसके खिलाफ चुनाव आयोग में शिकायत करने का ऐलान किया है।

उन्होंने कहा है कि दीवारों पर पेंट किए गए जिन संदेशों को आधार बनाकर एफआइआर दर्ज की गई है, वे छह महीने पहले लिखवाए गए थे। ईडी में चल रहे केस के मामले में उन्होंने दावा किया कि इस केस पर अदालत में जब भी फैसला होगा बादलों के पसीने छूटते नजर आएंगे, उन्हें बादलों ने केस में गलत ढंग से फंसाया था।

डॉ.स्वर्ण सिंह बुधवार को यहां पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अकाली दल व कांग्रेस को उनके बराबर का योग्य कोई प्रत्याशी नहीं मिल रहा है, इसलिए राजनीतिक दबाव में उनके खिलाफ एफआइआर दर्ज कराई गई है। उनकी पार्टी पिछले दो सालों से नशे के खिलाफ काम कर रही है, दीवारों पर उन्हीं संदेश को पेंट कराया गया था। इस पर वोट मांगने जैसी कोई बात नहीं है।

ईडी में चल रहे मामले में उन्होंने कहा कि अभी ये केस अदालत में चल रहा है, इस पर प्रतिक्रिया नहीं करेंगे, लेकिन जिस दिन केस का फैसला होगा, बादलों के पसीने छूटेंगे, अनुसूचित जाति वर्ग से होने के कारण उनके खिलाफ झूठा केस दर्ज कराया गया था। उन्होंने मीडिया पर भी हमला बोलते हुए कहा कि ये केस छापकर उनके चुनाव को नुकसान पहुंचाने की कोशिश की गई है, जब उनसे ये पूछा गया कि अब तो प्रत्याशियों के खिलाफ दर्ज केस का हवाला समाचार पत्रों में तीन-तीन बार विज्ञापन के माध्यम से देना पड़ेगा, इस सवाल के जवाब में उनका कहना था कि वे चुनाव आचार संहिता का पालन करेंगे, लेकिन ईडी के केस को वे अपने ढंग से छपवाएंगे, क्योंकि वे इसमें दोषी नहीं है, उन्हें तो फंसाया गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!