संवाद सहयोगी, मोगा : पुलिस शहीदी दिवस पर वीरवार सुबह एसएसपी सुरिदर जीत सिंह मंड ने ड्यूटी के दौरान शहीद हुए जवानों को पुलिस परेड ग्राउंड में आयोजित गरिमामय समारोह में श्रद्धाजंलि दी।

एसएसपी ने कहा कि शहीद हमारे देश का सरमाया हैं। देश की एकता और अखंडता को कायम रखने वाले पुलिस जवानों और अधिकारियों की शहीदी को कभी भी भुलाया नहीं जा सकता। उनको सच्ची श्रद्धांजलि यही होगी कि हम सभी एकजुट होकर देश विरोधी ताकतों का डट कर मुकाबला करें। स्थानीय पुलिस लाइन में आयोजित पुलिस शहीदी शोक दिवस के मौके पर अलग -अलग हमलों में देश भर के अलग-अलग प्रदेश में पुलिस और दूसरी पैरा मिलिटरी फोर्स के शहीद हुए जवानों और अधिकारियों को श्रद्धांजलि भेंट करते समय उन्होंने यह बात कही। इस मौके पर डिप्टी कमिश्नर हरीश नायर, एसपी गुरदीप सिंह, एसपी जगतप्रीत सिंह, •िाला लोग संपर्क अफसर प्रभदीप सिंह नत्थोवाल, जीओजी प्रमुख कर्नल बलकार सिंह विशेष तौर पर उपस्थित हुए। इस मौके पर पुलिस की तरफ से शहीद पुलिस जवानों को गार्ड आफ आनर दिया गया और दो मिनट का मौन रख कर शहीदों को श्रद्धांजलि भेंट की गई। डीएसपी बीएस भुल्लर ने देश भर में हुए शहीदों के नाम पढ़ कर सुनाए।

आतंकवाद के दौरान मोगा पुलिस के 39 जवान हुए थे शहीद

एसएसपी ने कहा कि शहीद पुलिस जवानों की याद में हर साल इस दिवस को मनाया जाता है। ताकि पुलिस के जवान और लोग इन शहीदों की जीवनियों से प्रेरणा ले सकें। उन्होने कहा कि आतंकवाद के दौरान मोगा पुलिस के 39 जवान शहीद हुए थे, जिन के परिवार मोगा में रह रहे हैं। •िाला पुलिस हमेशा उनके साथ खड़ी है। उन्होंने इन परिवारों को भरोसा दिया कि पंजाब सरकार और मोगा पुलिस की तरफ से हर कदम पर उन की हर संभव मदद की जाएगी। इस अवसर पर •िाला पुलिस प्रमुख व सभी पुलिस अफसर,एसएचओ, जवान ओर आदरणिय सज्जनों ने तैयार किये शहीदी स्मारक पर फूल मालाएं भेंट की। इस मौके पर शहीद परिवारों को विशेष तौर पर सम्मानित भी किया गया।

Edited By: Jagran