जागरण संवाददाता, निहालसिंह वाला (मोगा) : कर्ज में डूबकर भागने की दशहत निहालसिंह वाला में इस कदर दिखी कि एक किसान ने कर्ज की राशि का दो साल से भुगतान न मिलने पर भाकियू नेताओं के साथ मिलकर आढ़ती की दुकान के बाहर धरना शुरू कर दिया। बाद में आढ़ती के साथ मोबाइल फोन पर होने के बाद धरना समाप्त हो सका। धरना लगभग आधा घंटे तक लगा रहा।

गांव खाई निवासी गुरप्रीत सिंह पुत्र हरजिदर सिंह ने बताया कि भारत ट्रेडिग कंपनी के मुकेश कुमार पुत्र भारत भूषण के साथ लेन-देन था। ढाई साल पहले हिसाब होने पर उसका 42 लाख रुपये बकाया का निकला था। ये राशि आढ़ती ने चार किश्तों में देने की बात कही थी। पहली किश्त साढ़े दस लाख की देने के बाद पांच लाख और दे दिए थे, लेकिन दो साल से बाकी राशि नहीं दे रहा था। ऐसे में उसे डर था कि कहीं आढ़ती भाग न जाये तो उसने भारतीय किसान यूनियन की मदद से आढ़ती की दुकान के सामने धरना शुरू कर दिया है। उस समय आढ़ती दुकान पर नहीं था। किसान की फोन पर ही बात हुई उसने जल्द कर्जे की बाकी राशि देने की बात कही, उसके बाद धरना समाप्त हो सका। आढ़ती मुकेश का कहना है कि उसने दो किश्तें दे दी हैं, बाकी भी जल्द भुगतान कर देगा।

इस मौके पर सुदागर सिंह खाई, गुरमीत सिंह खाई, गुरमेल सिंह, भोला सिंह, गुरबख्श सिंह, निरंजन सिंह बधनीकलां, मंदर सिंह आदि बड़ी संख्या में भारतीय किसान यूनियन के नेता शामिल थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!