संवाद सहयोगी, मोगा : नाबालिग को शिक्षा दिलाने के बहाने गुरुद्वारे लाकर नशा तस्करी कराने के मामले में धर्मकोट पुलिस ने आरोपित ग्रंथी पर सोमवार को एक और मामला दर्ज किया है। हालांकि ग्रंथी की गिरफ्तारी के दौरान बरामद मोटरसाइकिल का जिक्र इस बार भी केस में नहीं है, जबकि बरामद की गई बाइक को ले जाते पुलिस मुलाजिम का फोटो भी वायरल हो चुका है।

पुलिस ने 28 जनवरी को गुरुद्वारा साहिब के ग्रंथी बलजिदर सिंह को गिरफ्तार कर नशा तस्करी का केस दर्ज किया था। पुलिस ने दावा किया था कि ग्रंथी बलजिदर सिंह को गश्त के दौरान गिरफ्तार किया है और तीन किलो चूरापोस्त बरामद किया है, जबकि पीड़ित का मां का कहना था कि ग्रंथी से आठ किलो चूरापोस्त पकड़ा गया और पुलिस ने ग्रंथी की बाइक भी कब्जे में ली थी।

14 वर्षीय किशोर अमृतपाल सिंह की मां राजेंद्र कौर के अनुसार छह वर्ष पहले उसका पति सतनाम सिंह से तलाक हो चुका है। धर्मकोट के गुरुद्वारा साहिब का ग्रंथी बलजिदर सिंह छह माह पहले उसके पास आया और कहा कि वह गरीब बच्चों को अपने खर्च पर स्कूल में पढ़ाई कराता है, उनको पाठ भी सिखाता है। महिला ने बताया कि उसकी आर्थिक हालत ठीक नहीं थी तो बेटे को ग्रंथी के पास पढ़ाई के लिए भेज दिया। बाद में उसे पता चला था कि ग्रंथी उससे पढ़ाई की बजाय तस्करी करा रहा था। वह दूसरे गांव में दूध लेने के लिए भेजता था, साथ में एक थैला पकड़ा देता था, जिसमें नशा होता था। पुलिस ने ग्रंथी को 27 जनवरी को गिरफ्तार कर लिया था। घायल की मां राजेंद्र कौर ने बताया कि मौके से पुलिस ने आठ किलो चूरापोस्त बरामद किया था और ग्रंथी की मोटरसाइकिल भी कब्जे में ली थी। दर्ज एफआइआर में पुलिस ने तीन किलो चूरा पोस्त ही दिखाया था।

एक्सरे रिपोर्ट के बाद मारपीट का केस

सहायक थानेदार बलवीर सिंह ने बताया कि पीड़ित नाबालिग अमृतपाल ने पुलिस को बताया कि पिछले छह महीने से ग्रंथी बलजिदर सिंह से पाठ सीख रहा था। ग्रंथी ने 27 जनवरी को शाम शेरपुर तायबा में सामान देने के लिए भेजा था, अमृतपाल ने अकेले जाने से मना कर दिया तो पाठी ने मारपीट कर उसकी बाजू तोड़ दी। एक्सरे रिपोर्ट आने के बाद पुलिस ने ग्रंथी के खिलाफ मारपीट का मामला दर्ज किया है। थाना प्रभारी से करेंगे बातचीत : डीएसपी

आरोपित ग्रंथी की बाइक ले जाते पुलिस कर्मी की फोटो वायरल होने पर डीएसपी धर्मकोट यादविदर सिंह बाजवा ने कहा कि उक्त मामला उनके ध्यान में नहीं है। इसके बारे में थाना प्रभारी से बातचीत करेंगे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!